कोरोना वायरस से बचने की खातिर डीएम ने दिये कड़े निर्देश, चेताया कि कड़ाई से हुआ पालन तो नहीं फैलेगा संक्रमण

वाराणसी। समूचे विश्व में खौफ का पर्याय बने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए शासन से जारी एडवाइजरी का अनुपालन कराये जाने के संबंध में डीएम कौशल राज शर्मा ने सोनवार को बैठक कर दिए कड़े निर्देश दिये हैं। इसके तहत जिले के सभी स्वीमिंग पूल तत्काल बंद होंगे जबकि स्टेडियम में बड़े आयोजन न आयोजित किये जायेंगे। साथ ही जिम तथा क्लबों को लगातार डिस्इन्फेक्शन किया जायेगा। नकली सेनेटाईजर तथा मास्क व अन्य सुरक्षा सामग्रीयों की कालाबाजारी करने वालो पर होगी सख्त कार्यवाही की जायेगी। होटलों तथा रेस्टूरेंट सहित बाजार में खाद्य वस्तुएं बिक्री करने वालों को ग्लब्स पहनकर खाद्य सामग्री परोसने तथा खाद्य सामग्री रखने की जगह पर विशेष रूप से सफाई रखा जाये। पिछले दो दिनों में विदेशों से जनपद में आये 34 लोग चिन्हित किये गये हैं जिनके घर 10 टीमें गठित कर उनकी जॉंच कराने तथा उन्हें निगरानी में रखने की कार्यवाही की जा रही है।

भीड़ वाले स्थानों पर बरते जायें यह एहतियात

डीएम ने सोमवार को आयुक्त कार्यालय स्थित सभागार में प्रदेश सरकार की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी एडवाइजरी के संबंध में बैठक के दौरान निर्देशित करते हुए कहा कि अधिक भीड-भाड़ वाली जगहों माल, मल्टीप्लेक्स, बिग बाजार, होटल, हास्पिटल आदि के लिए सफाई कराने के नियम बताये गये, जिसके अंतर्गत प्रत्येक 6 घंटे में हाइपोक्लोराइड से जमीन पर पोछा तथा सात फीट तक ऊची दिवाल पर भी प्रत्येक 6 घंटे पर सफाई कराई जाय। सार्वजनिक प्रयोग में आने वाले शौचालयों के लिए प्रत्येक 6 घंटे हाइपोक्लोराइड से जमीन पोछा तथा प्रत्येक 3 घंटे पर 2 प्रतिशत ब्लीचिंग सल्यूशन से सफाई कराई जाय। इसके अतिरिक्त लिफ्ट की दीवाल, हैण्डल, इन्टरकाम रिसीवर, मोबाइल तथा स्कलेटर रेलिंग सहित जहॉं भी लोगों द्वारा हाथ टिकाया जाता हो सभी जगह ठीक ढंग से प्रत्येक घंटे सफाई की जाय। इसके साथ ही बडे प्रतिष्ठान, रेस्टूरेंट, मार्केट प्लेस, दुकानों की सेल्फ, गददी आदि की भी नियमित सफाई की जाय। घरों में नमी सोखने वाली रददी चीजें, पुराने समाचार पत्र तथा धूल इकटठा करने का कारण बनने वाली वस्तुओं को हटा दें तथा वेन्टिलेशन से हवा व धूप के आने-जाने की व्यवस्था कार्योंलयों तथा घरों में करें ।

व्यवसायिक इस्तेमाल के प्रतिष्ठान रखें यह ध्यान

डीएम ने होटलों तथा व्यापरिक प्रतिष्ठानों, अस्पतालों में सेनिटाईजर रखने का निर्देश दिया जिसका इस्तेमाल बाहर से आने वाले लोगों द्वारा आवश्यकतानुसार किया जाय। उन्होंने सभी माल, होटल तथा बडे़ शोरूम जहॉं विदेशी व बाहरी लोग बड़ी संख्या में आते हैं वहां के मालिकों को थर्मल स्कैनर खरीदने तथा अपने कर्मचारियों तथा बाहर से आने वालों की जॉंच करने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी प्रतिष्ठानों के मालिकान को निर्देश दिया कि अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचाव की पूरी जानकारी दी जाय तथा किसी एक स्टाफ को नोडल बनाया जाय जिससे जॉंच टीम को पूरी जानकारी उपलब्ध करायी जा सके। जर्मनी, फ्रांस, स्पेन, इटली, ईरान, चाईना व कोरिया देशों से आने वाले पर्यटकों के नाम, पता व फोन नम्बर रजिस्टर में दर्ज किया जाय ताकि उन्हें गहन निगरानी में रखते हुए उनकी मानीटरिंग की जा सके। इन देशों से आने वाले प्रत्येक पर्यटकों/नागरिकों को बसों द्वारा क्वारंडान सेन्टर तक लाने एव उनके ईलाज के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी तथा क्षेत्रीय प्रबन्धक रोडवेज को निर्देशित किया।

खुले में मीट-मछली व मुर्गा बेचने वाले दे ध्यान

इसके अलावा डीएम ने खुले में मीट, मछली तथा मुर्गा बेचने वालों को मांस ढककर रखने तथा सफाई का कडाई से पालन करते हुए बिक्री करने का निर्देश दिया। अनुपालन न करने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने सभी अस्पतालों को निर्देशित किया कि वहॉं कोरोना, बुखार व फ्लू से प्रभावित की अलग ओपीडी चलाई जाय, जिसमें एक निर्धारित डाक्टर द्वारा जॉंच की जायेगी। जिससे इस प्रकार के संभावित मरीज अन्य मरीजों के सम्पर्क में न आ सके। जिलाधिकारी के औषधी विक्रेताओं को सावधान किया कि वे नकली सेनेटाईजर तथा मास्क व अन्य सुरक्षा सामग्रीयों की कालाबाजारी न करें तथा औषधी निरीक्षकों को दवा की दुकानों के विशेष जॉंच के निर्देश दिये। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि दो दिन में विदेशों से जनपद में आये 34 लोग चिन्हित किये गये हैं जिनके घर 10 टीमें गठित कर उनकी जॉंच कराने तथा उन्हें निगरानी में रखने की कार्यवाही की जा रही है। बैठक में एसएसपी, सीडीओ, नगर आयुक्त, सीएमओ सहित सभी विभागों के अधिकारी एवं विभिन्न संस्थानों के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts