एडीजी संग कानून व्यवस्था के संबंध में बैठक में डीएम ने दिया अहम सुझाव, मजबूत और भरोसेमंद सूचना तंत्र विकसित करने पर जोर

वाराणसी। आने वाले दिन पुलिस-प्रशासन के लिए चुनौती भरे हैं। काशी की देव दीपावली विश्वभर में प्रसिद्ध है और इसके संग गंगा महोत्सव, बारावफात तथा राम जन्म भूमि के संबंध में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ध्यान में रखते तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। जिले की कानून व्यवस्था चाक-चौबंद रखने के लिए कमिश्नरी सभागार में सोमवार को जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन की संयुक्त रणनीति और तैयारी की गहन समीक्षा की गई। अध्यक्षता करत ेहुए एडीजी ब्रजभूषण ने कहा कि सभी विभाग अपने संसाधनों को जांच परख कर तैयार कर लें। जिससे किसी अप्रिय स्थिति से निपटा ज सके। फुटपाथों पर किसी को रात में न सोने दें। रैन बसेरा की व्यवस्था नगर निगम दुरुस्त कर ले।

अभिसूचना संकलन पर डीएम का जोर

डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा कि हर स्तर पर सरकार का प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी अपना मजबूत और भरोसेमंद सूचना तंत्र विकसित करे। इससे यहां की कानून व्यवस्था को मजबूती मिल सकेगी। आपात स्थिति में भी किसी प्रकार का आपसी सौहार्द न बिगड़ने पाये। इसके लिए अभिसूचना संकलन अभी से प्रारम्भ कर दिया जाये। थानावार पीस कमेटी की बैठक कर हर हाल में शांति बनाए रखने की हिदायत दी जाय और असामाजिक तत्वों की सूची तैयार कर पाबंद किया जाय और इसकी रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत करें।

सभी विभागों को दिये गये टास्क

बैठक में अग्नि शमन, पुलिस विभाग, विद्युत विभाग, जलनिगम, स्वास्थ विभाग, नगर निगम, वीडीए सहित सभी विभागों को अपने विभागीय संसाधनों की जांच कर तैयार रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें आईजी विजय सिंह मीणा, एसएसपी प्रभाकर चौधरी, एडीएम प्रशासन, एडीएम सिटी विनय कुमार सिंह,एडीएम प्रोटोकॉल सहित पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts