डीएम ने किया साफ ईद पर भी नहीं मिलेगी कोई ढील, जिस तरह बढ़ रही कोरोना पॉजिटिव की संख्या उससे रिस्क लेना पड़ेगा मंहगा

वाराणसी। अलविदा जुमा की नमाज से पहले ईद को लेकर खासी आश्ंका थी। हर साल की तरह त्योहार मनाना इस बार संभव नहीं लग रहा था। जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए डीएम कौश्ल राज शर्मा ने ईद के अवसर पर किसी भी प्रकार की ढ़ील देने से किया इन्कार कर दिया है। डीएम ने विशेषकर मुस्लिम भाइयों से घरों में ही रह कर ईद मनाने की अपील की है। उनका कहना था कि जीवन की सुरक्षा सर्वोपरि है और किसी भी पर्व को जीवन की कीमत पर प्राथमिकता नहीं दी जा सकती। विशेषकर ऐसी स्थिति में जब कि पूरा देश ही नहीं बल्कि पूरा विश्व खतरनाक महामारी का सामना कर रहा हो।

नगर निगम सफाई पर दे खास ध्यान

डीएम ने गुरुवार को कैंप कार्यालय स्थित सभागार में आगामी ईद पर्व को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक के दौरान ईद के अवसर पर पीने के पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए जल निगम के अधिकारी को निर्देशित किया। साथ ही मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में सीवर लीकेज आदि को भी ठीक कराये जाने की हिदायत दी। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देश दिए कि साफ सफाई तथा कूड़ा उठान की कार्यवाही सुनिश्चित करा ले। साथ ही गलियों में आवारा पशुओं की भी रोकथाम करा लिया जाए। विद्युत विभाग के अभियंता को निर्देशित किया की निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाए। यदि किसी कारण आपूर्ति में रुकावट आती है, तो उसे तत्काल ठीक कराने हेतु पहले से तैयारी रखी जाए।

निजी अस्पतालों में इलाज की उठी मांग

बैठक में लोगो द्वारा मांग की गयी कि निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के अलावा अन्य बीमारियों से ग्रसित लोगों के इलाज के लिए व्यवस्था करायी जाए, जिस पर डीएम ने आश्वस्त किया कि आप द्वारा बताए गए अस्पतालों यथा मदनपुरा का जनता सेवा अस्पताल, अलमहमूद बजरडीहा अस्पताल तथा सबीका देवपोखरी अस्पताल के मेडिकल स्टाफ की कोरोना से सुरक्षित रहते हुए मरीजों का इलाज करने के लिए विशेष ट्रेनिंग सीएमओ द्वारा दिलवा कर जल्द ही इलाज शुरू कराया जाएगा। बैठक में एसएसपी प्रभाकर चौधरी, नगर आयुक्त गौरांग राठी, एडीएम सिटी विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी दिनेश कुमार सहित शहर के विभिन्न क्षेत्रों से सम्मानित मुस्लिम प्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।

Related posts