डीएम-सीएम नहीं सीधे पीएम से लगायी ‘इच्छा मृत्यु’ की गुहार, कलेक्ट्रेट में बच्चों के संग महिला की पुकार

वाराणसी। पीएम मोदी भले काशी के सांसद हो लेकिन देश के पीएम भी हैं। सम्भवत: इसी लिये समीपवर्ती इलाकों के रहने वाले भी उन्ही से गुहार लगाते हैं। खास यह कि केन्द्रीय मंत्री और पूर्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डा.महेन्द्रनाथ पाण्डेय के संसदीय क्षेत्र की रहने वाली सुमन मिश्रा शनिवार को इच्छा मृत्यु की मांग करते हुए अपने दो नाबालिग बच्चो के साथ कचहरी परिसर में घूमी। महिला का पति संजय मिश्र किडनी की बीमारी से ग्रसित है और उसके इलाज के लिए छोटे बच्चों को बैनर थमा कर वह कचहरी में घूमी तो मामला सोशल मीडिया में खासा चर्चा का सबब रहा। यह बात दीगर सभी पीएम के संसदीय क्षेत्र का बताने में जुटे थे लेकिन इलाका दूसरा था।

स्वास्थ्य योजनाओं पर उठाये सवाल

मुनारी गांव (चोलापुर) निवासिनी सुमन मिश्रा अपने दो बच्चों प्रिंस मिश्रा व आनंद मिश्रा के साथ इच्छा मृत्यु की मांग के पोस्टर लिए पूरे कचहरी परिसर में घूमी । सुमन का कहना है कि मेरे पति संजय मिश्रा इस समय किडनी की  गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। उनके इलाज के लिए मैंने सारे गहने व जमा पूंजी तक खर्च कर दिए हैं अब पैसे खत्म हो जाने पर उनके इलाज के लिए मेरे पास पैसे नहीं है। पिछले एक वर्ष से प्रधानमंत्री स्वास्थ्य योजना आयुष्मान योजना अन्य योजनाओं के लिए आवेदन पत्र दिया पर अभी तक कोई भीस्वास्थ्य कार्ड जारी नहीं हुआ। इलाज के अभाव में मेरे सामने मेरे पति संजय मिश्रा की मृत्यु हो जाए उसके पहले मैं मांग करती हूं जिला प्रशासन से मुझे और मेरे दोनों नाबालिक पुत्रों को इच्छा मृत्यु प्रदान किया जाये। बहरहाल बच्चों को अधनंगा कर तैयारी के साथ बैनर-पोस्टर समेत आयी सुमन पूरे कचहरी में चर्चा का विषय बनी रही। 

Related posts