डीएम ने विद्युत विभाग के कर्मचारियों नेताओं से वार्ता में दी नसीहत, बाहरी व अराजक तत्वों से सजग रहने की सलाह

वाराणसी। भविष्य निधि के रूप में संचित किये गये धन को निजी फाइनेंस कंपनी को दिये जाने से हजारों करोड़ का घोटाला सामने आने के बाद बिजली विभाग के कर्मचारी आक्रोशित है। प्रकरण की सीबीआई जांच समेत दूसरी मांगों को लेकर उन्होंने सोमवार से हड़ताल आरम्भ कर दी है। डीएम कौशल राज शर्मा एसएसपी प्रभाकर चौधरी के साथ हाइडिल कालोनी स्थित विद्युत विभाग के कर्मचारियों नेताओं से वार्ता करने पहुंचे।

कर्मचारियों ने रखी यह मांग

अधिकारीद्वय से वार्ता के दौरान कर्मचारी नेताओं ने कहा कि भविष्य निधि के खाते में घोटाला करके डीएचएफएल ट्रस्ट के माध्यम से 2268 करोड़ रुपए गबन किये जाने से कर्मचारियों में रोष है और वे धरना प्रर्दशन कर रहे हैं। उन्होंने मांग की कि सरकार नोटिफिकेशन जारी कर यह गारंटी ले कि कर्मचारियों के पेंशन के पैसे सुरक्षित हैं। ट्रस्ट के डूबे पैसे वापस जमा कराया जाये। सीएम व विद्युत मंत्री से कर्मचारियों के हित में समधान निकालने की मांग की गई।

विश्वास-भरोसा कायम रखने का अनुरोध

डीएम ने वार्ता के दौरान कर्मचारी नेताओं को आश्वस्त किया कि आपकी मांग हम शासन तक पहुंचायेंगे और जो प्रयास हो सकेगा जरुर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आप सजग रहें बाहरी तत्व किसी प्रकार घुसपैठ कर बदनाम करने की कोशिश न कर सकें। सभी मिलकर कोआर्डिनेशन के साथ काम करते रहें जिससे विश्वास और भरोसा बना रहे।

Related posts