वाराणसी। देश में सांस्कृतिक राजधानी कही जाने वाली काशी नगरी पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है। विकास कार्य प्राथमिकता है लेकिन साथ में यह भी ध्यान रखना होगा कि शहर की प्राचीनता एवं धार्मिकता को ध्यान में रखते हुए इसको संपादित करना। वीडीए के नये वीसी राजेश कुमार ने सोमवार को कार्यभार ग्रहण करने के साथ अधीनस्थों को अपना नजरिया स्पष्ट शब्दों में बता दिया। उनका कहनवा है कि सुनियोजित विकास तथा नियम विरुद्ध एवं अवैध कार्यों विकसित पर नियमत: कार्यवाही कर प्रभावी अंकुश लगाना। आम जनमानस, जनप्रतिनिधियों एवं समस्त मीडिया को एकसाथ लेकर बेहतर सामंजस्य के साथ कार्यों को संपादित कराने क प्रयास रहेगा। उनका कहना था कि शासन की प्रमुख योजनाओं को समय सीमा में प्रमुखता से क्रियान्वित करना सर्वोच्च प्राथमिकता है।

आईपीएस के बाद बने हैं आईएएस

मूल रूप से राजस्थान में अलवर जिले के निवासी राजेश कुमार की प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली में हुई। दिल्ली कालेज आफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन में बीटेक की डिग्री ली है। राजेश कुमार 2008 बैच आईएएस में यूपी कैडर के लिए चुने जाने से पहले 2005 बैच उड़ीसा कैडर के आईपीएस थे। इससे पहले वह मिशन निदेशक कौशल विकास मिशन उत्तर प्रदेश के पद पर कार्यरत थे। बरेली में एसडीएम पद से अपना कैरियर शुरू करने के उपरांत सीडीओ मुरादाबाद तत्पश्चात संत कबीर नगर, कन्नौज व मथुरा में जिलाधिकारी के पद पर रह चुके हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment