भदोही। मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में फरार चल रहे पांच हजार के इनामी रामबचन सरोज ने करीबी साथी महेन्द्र पटेल और पत्नी दुर्गावती की तीन माह पहले गिरफ्तारी के बावजूद गांजे का धंधा नहीं छोड़ा। आसपास के जनपदों में उसकी सप्लाई जारी रही। क्राइम ब्रांच और ऊंज पुलिस ने गुरुवार को संयुक्त छापेमारी में रामबचन को 50 किलो गांजे के साथ धर-दबोचा। एसपी सचिन्द्र पटेल ने मीडिया के सामने गिरफ्तार आरोपित को पेश किया तो उसने कबूल किया कि उड़ीसा से लेकर आसोम तक से वह सस्ती दर पर गांजा खरीद कर सप्लाई करता रहा है। कई सफेदपोश धंधे को संरक्षण देते हैं। मिली जानकारी के आधार पर गिरोह से जुड़े कई अन्य लोगों की गतिविधियों की पुलिस जांच कर रही है और जल्द ही इनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

तीन माह से पुलिस को थी तलाश
एसपी ने बताया कि 27 अगस्त को सवा चार कुंतल गांजे के साथ महेन्द्र पटेल को गिरफ्तार किया गया था और उससे मिली जानकारी के आधार पर गिरोह के सरगना रामबचन के औराई स्थित आवास पर दबिश दी गयी। रामबचन तो फरार होने में सफल रहा लेकिन पत्नी दुर्गावती देवी 50 किलो गांजे के संग पकड़ी गयी। इनामियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में क्राइम ब्रांच प्रभारी अजय सिंह को रामबचन के मूवमेंट की जानकारी मिली थी। ऊंज प्रभारी इंस्पेक्टर सुनील वर्मा,औराई इंस्पेक्टर शेषधर पांडे, एसआई नवीन तिवारी,सचिन झा,इंदु प्रकाश,सर्वेश रॉय,नरेंद्र,अनिरुद्ध आदि की टीम अल सुबह महराजगंज तिराहे से रामबचन को धर-दबोचा।

admin

No Comments

Leave a Comment