बलिया। सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से लाखों रूपये वसूलने और इसके बाद उनको फर्जी नियुक्ति-पत्र, कॉल लेटर और इंटरव्यू लेटर आदि देकर फर्जीवाड़ा करने वाले नवीन राम को सिकंदरपुर पुलिस ने छापेमारी के दौरान धर-दबोचा। तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर उसको जेल भेज दिया। नवीन राम के खिलाफ खेजुरी थाना समेत कई जगह मामला धोखाधड़ी का दर्ज है। उपने ऊंचे सम्पर्को का वास्ता देते हुए नवीन राम लोगों को इस कदर अपने जाल में फंसाता ता कि उन्हें फर्जीवाड़े का आभास तक नहीं होता था। जब पता चलता था नवीन राम लाखों रुपये वसूल कर फरार हो चुका होता था।

सटीक सूचना पर हुई कार्रवाई

मूल रूप से रामपुर महावर (कोतवाली) निवासी अभियुक्त नवीन राम सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के सचदेवापुर निवासी धनंजय कुमार के यहां नौकरी दिलाने के लिए पैसे लेने गया था तभी सिकंदरपुर पुलिस ने इस को गिरफ्तार कर लिया। कड़ाई से पूछताछ में नवीन राम ने कबूल किया कि धनंजय कुमार से ढाई लाख रुपया और खेजुरी थाना क्षेत्र के उत्तमचंद से लगभग 5 लाख रुपये लेकर फर्जी नियुक्ति पत्र दे दिया था। नवीन राम ने यह भी स्वीकार किया कि अन्य जनपदों से 14-15 लोगों से लगभग कई लाख रुपया लिया है तथा कॉल लेटर एवं नियुक्ति पत्र दिया है। इस मामले में सिकंदरपुर थाना में आईपीसी की धारा 419 व 420 एवं खेजुरी थाने में आईपीसी की धारा 406, 419, 420, 467, 468 व 471 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment