वाराणसी। डीरेका परिसर में कर्मचारी टीके मुकेश की हत्या के मामले में आरोपी रविनारायन सिंह उर्फ बबलू राय का तीन दिन का कस्टडी रिमांड पुलिस ने मांगा था लेकिन उसे सिर्फ घंटे की अनुमति मिल सकी। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अभय श्रीवास्तव की अदालत ने शनिवार की सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक चार घंटे के लिए पुलिस कस्टडी में देने का आदेश दिया है। अदालत में पुलिस की तरफ से दिए गए प्रार्थना पत्र में कहा गया था कि अभियुक्त राविनारायन सिंह उर्फ बबलू राय ने जेल में दिए बयान में कहा था कि वह घटना के समय वहीं पहाड़ी गेट के पास खड़ा था। इस दौरान उसके पास भी एक तमंचा व कारतूस था। जिसे जरूरत पड़ने पर उपयोग किया जाता। काम हो जाने के बाद वह उक्त तमंचा व कारतूस को पहाड़ी में स्थित एक बगीचे में छिपाकर रख दिया है। जिसे चलकर बरामद करा सकता है।

डब्लू राय के बाबत हो सकती है पूछताछ

अदालत में बचाव पक्ष की तरफ से रिमांड का विरोध किया गया। अदालत ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद आरोपी रविनारायन सिंह उर्फ बबलू राय को 4 घंटे की पुलिस कस्टडी रिमांड पर देने का आदेश दिया। माना जा रही है कि बबलू के कोर्ट में आत्मसमर्पण करने के चलते पुलिस पूछताछ नहीं कर सकी थी लेकिन कस्टडी रिमांड के दौरान इसका मौका मिलेगा। मुख्य आरोपित पंकज सिंह उर्फ डब्ल्यू राय के बाबत पूछताछ की जा सकती है। वहीं दूसरी तरफ इसी मामले में एक अन्य आरोपी रमेश राय उर्फ मटरु राय के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है।

admin

No Comments

Leave a Comment