संदिग्ध हालात में झोपड़ी में आग लगने से तीन बच्चों की मौत, चार-चार लाख मुआवजे की घोषणा

सोनभद्र। तेंदू गांव (रार्बटसगंज) में सोमवार की देर रात एक झोपड़ी में आग लगने से तीन मासूमों की गंभीर रुप से झुलसने के कारण मौके पर ही मौत हो गयी। झोपड़ी के बाहर सो रही मां-बेटी इस घटना में बच गयी। दिल दहला देने वाली इस घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची रार्बटसगंज पुलिस ने बच्चों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद मां-बेटी को उसके मायके मंगुराही भेज दिया है। मौके पर पहुंचे तहसीलदार का कहना है कि मृतक बच्चों के आश्रितों को प्रदेश सरकार की तरफ से चार-चार लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

कैसे लगी आग पता नहीं चल सका

इस हादसे में बची मां सहाना कहना है उसके पति नवीन कहीं गए थे। रात को वह अपने चारों बच्चों के साथ खा-पीकर सो गयी। तीन भाई बहन शाहिद (4), परवीन (5) और रुखसाना (6) झोपड़ी के अंदर सो रहे थे। सहाना अपी एक बेटी के साथ बाहर सो रही थी। उसका कहना है वह घर में ढिबरी जलाकर भी नहीं सोती बल्कि बिजली जलती है। अचानक आग देखकर बच्चों को लेकर बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन तीनों बच्चे आग के आगोश से नहीं निकल सके। पुलिस आग लगने के पीछे के कारणों का पता करने में जुटी है। फिलहाल स्पष्ट नहीं हो सका कि आग कैसे लगी थी।

Related posts