आजमगढ़। महुआ गांव (जहानागंज) में झारखंड पुलिस के सिपाही रामपाल उर्फ सोनू की पत्नी नीरज की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर पहुची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर घटना की छानबीन शुरू कर दी है। आरम्भिक पूछताछ में ससुरालवालों ने खुदकुशी की बात कही है लेकिन क्यों और असलहा कौसे मिला बता नहीं सके। दूसरी तरफ मायकेवालों ने हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। शव को पोस्टमार्टंम के लिए भेजने के साथ पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

मृतका का पिता भी हैं कांस्टेबिल

रानीपुर (मऊ) थाना अंतर्गत काझा ग्राम निवासी रामबरन सिंह पुलिस विभाग में आरक्षी पद पर तैनात हैं। लगभग आठ वर्ष पूर्व उन्होंने अपनी पुत्री नीरज की शादी महुआ गांव के रहने वाले रामपाल उर्फ सोनू के साथ की थी। सोनू इस समय में झारख्ांड पुलिस में आरक्षी के पद पर है। नीरज इन दिनों अपने ससुराल में थी। गुरुवार को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लग जाने से नीरज की मौके पर ही मौत हो गई। इस मामले में हत्या और आत्महत्या के बीच उलझी पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। वही मायके पक्ष ने ससुराल पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। वही पुलिस का कहना है कि मामले के हर पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच कर रही है। जांच के बाद दोषियों पर सख्त कार्यवाई की जायेगी।

admin

No Comments

Leave a Comment