संदिग्ध हालात में खून से लथपथ मिली शिक्षिका की लाश, पति समेत ससुराल के आठ लोग नामजद

वाराणसी। नरोत्तमपुर (लंका) में रहने वाली निजी स्कूल की शिक्षिका नवेदिता सिंह (32) से पढ़ने वाले बच्चे सोमवार की दोपहर उनके घर पहुंचे तो दरवाजा नहीं खुला। देर तक बच्चों को दरवाजा खटखटाते देख पड़ोसियों को भी शक हुआ। देर शाम से ही घर में कोई हलचल नहीं पायी गयी थी। सूचना पुलिस को दी गयी जिसने आकर दरवाजा खोला तो खून से लथपढ़ नवेदिता की लाश पड़ी थी। सिर से खासा खून बहा था जिससे आशंका जतायी जा रही थी कि वजनी वस्तु से प्रहार किया गया है या दीवार से भिड़ा दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बाद में पहुंचे नवेदिता के मायकेवालों ने ससुुरालवालों पर आशंका जताते हुए आठ के खिलाफ तहरीर दी है। शक के आधार पर कुछ लोगों को उठाकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

गहने लेकर भाग गया था पति

बताया जाता है कि इसी थाना क्षेत्र के नगवां मुहल्ला निवासी सुबोध ठाकुर ने लगभग एक दशक पूर्व पुत्री निवेदिता का विवाह नरोत्तमपुर के रहने वाले कल्लू सिंह के बेटे शैलेंद्र से की थी। शैलेन्द्र दो साल पहले पत्नी के जेवर लेकर भाग गया था। प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने वाली निवेदिता अपनी दिव्यांग बेटी के साथ यहां रह रही थी। उसके ससुर भी बेटे के जाने के बाद गायब हो गये। बेटी अपनी नानी के संग यहां थी और सोमवार को स्कूल बंद होने के चलते नवेदिया बच्चों को पढ़ाने के लिए रूकी थी। तहरीर में पति के साथ सास-श्वसुर,जेठ-जेठानी, ननद-देवर नामजद किये गये हैंं।

Related posts