क्राइम मीटिंग: इंस्पेक्टर रामनगर, दशाश्वमेध, चौक, भेलूपुर को कड़ी फटकार, शातिरों की नकेल कसने को कप्तान का यह प्लान

वाराणसी। पुलिस लाइंस के सभागार में बुधवार को हो रही अपराध समीक्षा बैठक में एसएसपी आनंद कुलकर्णी के तल्ख तेवर देख ठंड में भी अधीनस्थों के पसीने छूटने लगे। कप्तान ने जघन्य अपराधियों एवं लोकशान्ति भंग करने वाले अवांछनीय तत्वों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, गैंगस्टर एक्ट से लेकर गुण्डा एक्ट आदि की प्रभावी रुप से कार्यवाही पर जोर दिया। साथ ही चेताय कि पूर्व में भी बार-बार इस विषय पर आपको निर्देशित किया गया है, परन्तु आशानुरुप कार्यवाही नहीं हो रही है। अत: आप इसे गम्भीरता से लेते हुए आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें। बैठक में जहां प्रभारी निरीक्षक रामनगर, दशाश्वमेध, चौक, भेलूपुर को कड़ी फटकार लगी वहीं सभी को थाना क्षेत्र के अपराधियों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया।

फीडबैक रहा खराब तो विवेचक की क्लास

अपराध समीक्षा में सभी प्रभारी निरीक्षकों व थानाध्यक्षों को आईजीआरएस में आये प्रार्थना पत्रो तथा सीएम सन्दर्भित मामलों का शत प्रतिशत निस्तारित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। थानों पर जांच हेतु भेजे प्रार्थना पत्रों की जांच के सम्बन्ध में आवेदक से फीडबैक प्राप्त किया जायेगा। फीडबैक के आधार पर प्रभावी कार्यवाही न किये जाने पर सम्बन्धित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। थानों की साफ सफाई व थाना परिसर में खड़े वाहनों के सम्बन्ध में विशेष ध्यान दिये जाने पर जोर दिया गया।

मॉब लिंचिंग को लेकर यह हैं निर्देश

भीड़ द्वारा कारित हिंसा एवं हत्या किये जाने वाली घटनाओं की रोकथाम के सम्बन्ध में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये निर्णय के दृष्टिगत संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर सर्तक दृष्टि रखने हेतु कड़े निर्देश जारी किये गये। सभी थाना प्रभारियों को विवेचनाओं की कार्ययोजना तैयार कर शीघ्र निस्तारित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। जाड़े के मौसम को ध्यान में रखते हुए थानों के रात्रि गश्त बढ़ाये जाने व यूपी 100 की गाड़ियों की पेट्रोलिंग सर्राफा मार्केट, बैंक, एटीएम, होटलों, ढाबों आदि स्थानों की गश्त किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। बैठक में एसपी सिटी दिनेश सिंह,एसपी आरए एमपी सिंह, सभी सीओ और थाना प्रभारी मौजूद रहे।

Related posts