नहीं चल सका ‘कॉलर’ में ‘डॉलर’ छिपाने का दांव, एयरपोर्ट से यात्री को गिरफ्तार कर डीआरआई ले गयी साथ

वाराणसी। तस्कर ने एक एड फिल्म की तर्ज पर कॉलर के नीचे हजारों डॉलर सिलवा कर निकलने का जो जाल बुना था वह राजस्व असूचना इकाई (डीआरआई) ने तार-तार कर दिया। यह चौंकाने वाला मामला बाबतपुर के एलबीएस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मंगलवार को हुआ। इंडिगो एयरलाइंस के विमान 6ई98 से बैंकॉक जाने के लिए पहुंचे यात्री महेंद्र कुमार को डीआरआई की टीम ने धर-दबोचा। भारी मात्रा में विदेशी करेंसी देख डीआरआई बी सकते में रह गयी। यात्री को हिरासत में लेने के साथ डीआरआई की टीम सीधे शहर निकल गयी। देर रात तक पूछताछ का सिलसिला जारी था जिससे यह स्पष्ट नहीं हो सका कि यात्री के पास से किन-किन देशों की कितनी करेंसी थी। अत्यधिक सुरक्षा वाले एयरपोर्ट पर यात्री के पास से करेंसी पकड़े जाने की सूचना मिलते ही दूसरी सुरक्षा एजेंसियां भी चौकन्नी हो गयी हैं।

सटीक सूचना पर हुई कार्रवाई

बताया जाता है कि महेंद्र कुमार मंगलवार को दोपहर बैंकाक जाने वाली फ्लाइट पकड़ने की खातिर एलबीएस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचा था। इससे पहले ही डीआरआई की टीम एयरपोर्ट पर मौजूद थी। महेन्द्र के पहुंचते ही टीम ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ के संग जांच पड़ताल शुरू कर दी। जांच में स्पष्ट हुआ कि महेन्द्र ने अपने सूटकेस के भीतर जो कपड़े रखे थे उनके कॉलर के साथ ही अन्य स्थानों पर डॉलर को रखकर सिलाई कर दी थी। विभागीय सूत्रों का दावा है कि महेन्द्र सोमवार को भी एयरपोर्ट पर पहुंचा था लेकिन आने से पहले ही डीआरआई की टीम को एयरपोर्ट पर देख कर खिसक गया था। दूसरे दिन भी उसने कोशिश की लेकिन नाकाम रहा।

Related posts