कोरोना नहीं यहां तो मां ही बन गयी ‘पूतना’, तीन बच्चों तो कुएंं में फेंककर हुई फरार जिसमें दो की गयी जान

सोनभद्र। इन दिनों करोना संक्रमण के चलते अपराध का ग्राफ शीन्य पर आ गया है। ऐसे में दो मासूमों की संदिग्ध हालत में मौत और एक के जीवन-मृत्यु से संघर्ष की जानकारी आयी तो पुलिस सक्रिय हो गयी। आरम्भिक जांच में चौकाने वाली जानकारी सामने आयी है। दरअसल पिंडारी (बीजपुर) गांव में एक 30 वर्षीया मां अपने तीन मासूमों को कुएं में फेंककर फरार हो गयी। हादसे में दो मासूमों की मौत जबकि एक बच्ची ग्रामीणों के अथक प्रयास से बच गयी। सनसनीखेज वारदात की जानकारी मिलने के बाद पुलिस गांव से लेकर आरोपिता के मायके तक उसकी तलाश की जा रही है लेकिन अभी तक पता नहीं चल पा सक है। महिला ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया गया, यह क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है।

पड़ोसी के सूचना देने के साथ फरार

पिंडारी गांव के कैमहाडॉड़ टोले में सास-ससुर के साथ रह रही देवंती ने देर रात पड़ोसी की पत्नी रामप्यारे का दरवाजा खटखटाया और बताया कि उसके दो बच्चे कुएं में गिरकर मर गए हैं और एक बच्ची जिंदा है। ग्रामीणों का अरोप है कि इतना बताने के बाद देवंती वहां से भाग गई। पड़ोसियों ने कुएं में झांका तो बात सही निकली। आनन-फानन में सूचना ग्राम प्रधान व पुलिस को दी गई। एक युवक ने रस्सी के सहारे कुएं में घुसकर 6 वर्षीया बच्ची अनु को बाहर निकाला। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों मासूमों और अनु को फौरन रिहंद चिकित्सालय ले गई जहां दो बच्चों को चिकित्सकों ने मृतघोषित कर दिया।

बच्ची ने की आरोपों की पुुष्टि

पुलिस का कहना है कुएं से निकाली गई बच्ची ने गांववालों को बताया कि उसकी मां ने ही दोनों भाइयों के संग कुएं में फेंक दिया। मरे हुए बच्चोंकी शिनाख्त अनुज (3) और दीपांशु (1) के रूप में की गईं। पुलिस के अनुसार बच्चों का पिता विजय गोंड 10 महीने से चेन्नई काम करने गया हुआ है। पुलिस बच्ची अनु को थानेमें लाकर पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार बच्ची बहुत डरी हुई है कुछ भी सही-सही नहीं बता पा रही है। बच्चों की मां की खोजबीन की जा रही है।

Related posts