एक साथ 15 संक्रमित पॉजिटिव मिलने से जिले में फूटा ‘कोरोना बम’, संदिग्ध की मौत के बाद से मचा है हडकंप

आजमगढ़। पिछले कुछ दिनों से मिली रही राहत के बाद जिले में अचानक कोरोना का विस्फोट हुआ है। जहां एक साथ 15 नये मामले सामने आने के बाद स्वास्थ्य महकमे के साथ पूरे जिले में हडकम्प मच गया है। इसके बाद जिला प्रशासन इन क्षेत्रों को कंटेंटमेन जोन घोषित करने की कवायद में जुटी हैं वहीं पॉजिटिव मरीजों को राजकीय मेडिकल कालेज में आइसोलेट किया जा रहा है। नये मिले 15 मरीजों के साथ जिले में अब कोरोना मरीजों की कुल संख्या 30 हो गयी है ।

प्रवासियों के चलते बढ़ा आंकड़ा

डीएम नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने स्वीकार किया कि दूसरे प्रांतों से लौट रहे प्रवासी श्रमिकों के तीन दिन पूर्व जांच के लिए 163 व्यक्तियों के सैंपल भेजे गये थे। इसकी जांच गोरखपुर लैब भेजी गयी थी जिसमें 148 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव और 15 लोगों की एक साथ रिपोर्ट पॉजिटिव अयी है। गांवों में रहने वालों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में मेडिकल टीम पाजिटिव मरीजों को मेडिकल कालेज चक्रपानपुर में आइसोलेट कराया जा रहा है। पॉजिटिव आने वाले मरीजों वाले जहानागंज, महराजगंज, पल्हनी, लालगंज आदि ब्लाक के गांव शामिल है। जिले में अब कुल 30 कोरोना पॉजिटिव मरीज हो गए हैं। इनमें से नौ ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज भी हो चुके हैं। 20 ऐक्टिव मरीजों का राजकीय मेडिकल कालेज में उपचार चल रहा है जबकि एक मरीज की मौत हो चुकी है ।

रिपोर्ट आने से पहल ेएक और संदिग्ध की मौत

उधर जिला अस्पताल में एक और कोरोना संदिग्ध की इलाज के दौरान मौत हो गयी है। दिल्ली से लौटे अतरौलिया निवासी पिता-पुत्र शेल्टर होम में क्वॉरेंटाइन थे। दोनों की तबीयत बिगड़ने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इन दोनों का 20 मई को सैंपल जांच के लिए भेजा गया था लेकिन अभी रिपोर्ट नहीं आई है। बहरहाल पिता की मौत के बाद पुत्र का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। सीएमओ ने स्पष्ट किया है कि निर्धारित प्रोटोकाल के तहत ही अंतिम संस्कार होगा।

Related posts