वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके ही संसदीय क्षेत्र में घेरने के लिए कांग्रेस ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। किसानों के बहाने कांग्रेस अब आंदोलन के मूड में दिख रही है। किसानों की समस्याओं को सुनने और आंदोलन की जमीन तैयार करने के लिए राहुल गांधी ने अपनी खास सिपहसलार जितिन प्रसाद को वाराणसी भेजा है। जितिन प्रसाद ने मोहनसराय बाईपास पर ट्रांसपोर्ट नगर प्लान को लेकर पिछले कई महीनों से आंदोलन कर रहे किसानों से मुलाकात की और समर्थन देने का ऐलान किया।

किसानों को दिया भरोसा

जितिन प्रसाद ने किसानों से मुलाकात के बाद कहा कि इस मामले कांग्रेस आरपार की लड़ाई का मूड बना चुकी है। अब आश्वासन से काम नहीं चलने वाला किसानों को उनका अधिकार मिलना चाहिए। जिस योजना के लिए यह जमीन अधिग्रहित की गई उसका काम अब तक शुरू नहीं हुआ है और ना ही भविष्य में होता दिख रहा है। इसलिए जो जमीनें हैं, वह इन किसानों के नाम वापस होनी चाहिए। उन्होंने कहा किकिसानों का एक प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी से मिलने पहुंचा था । मैं यहां उनके आदेश पर आया हूं और इस मामले की पूरी जांच कर इसकी रिपोर्ट मैं दिल्ली पहुंच कर राहुल गांधी को सौंप दूँगा

कर्नाटक में कांग्रेस की जीत का भरोसा

वहीं कर्नाटक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से गरीब के बेटे के प्रधानमंत्री बन जाने के बयान के बाबत पूछा गया तो उनका कहना था कि कांग्रेस ने क्या नहीं किया। जमींदारी से लेकर आज तक जो किसान आज यहां बैठे हैं। उनसे ही पूछ लीजिए अगर जमीन अधिग्रहण नियम के तहत किसानों को जो अधिकार दिलाएं गए हैं। वह कांग्रेस के नेता भारतीय जनता पार्टी ने उस वक्त इसका विरोध किया था।

admin

No Comments

Leave a Comment