गठबंधन के आरोपों को लेकर आयोग ने मांगी रिपोर्ट! दलितों को धन देकर अंगुली में स्याही लगाने का मामला तूल पकड़ा

चंदौली। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्रनाथ पाण्डेय यहां से खुद प्रत्याशी है। प्रधान से लेकर विधायकों तक ने अपना नंबर बढ़ाने की खातिर भाजपा को वोट दिलाने के लिए अपनी तरफ से कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। ऐसे में शनिवार को हुए एक मामले ने कुछ ऐसा तूल पकड़ा कि पार्टी को सफाई देनी पड़ रही है। अलबत्ता सपा के सकलडीहा से विधायक प्रभु नारायण यादव रात से ही इसे गरमाने की कोशिशों में जुटे हैं। सम्भवत: इसी प्रकरण के चलते रविवार को वोटिंग के समय सपा-भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच जमकर संघर्ष भी हुआ।

रात को देर तक हुआ था हंगामा

गौरतलब है कि चंदौली लोकसभा क्षेत्र के ताराजीवनपुर गांव (अलीनगर) में शनिवार को पूर्व प्रधान छोटेलाल तिवारी द्वारा दलित बस्ती में प्रत्येक व्यक्ति को पांच पांच सौ रुपए बांटे जा रहे थे। आरोप है कि जिन व्यक्तियों को पैसे दिए जा रहे थे उनकी उंगलियों पर भी नीले निशान भी लगाए जा रहे थे। यह खबर आग की तरह फैली ही थी कि सपा-बसपा के नेताओं ने मौके पर जाकर हंगामा शुरू कर दिया। देर रात सकलडीहा से सपा विधायक प्रभु नारायण यादव अलीनगर थाने में धरने पर बैठ गए। काफी देर बाद आला अधिकारियों के मौके पर पहुंच विधायक को कार्यवाही का आश्वासन देने के बाद मामला ठंडा पड़ा। सूत्रों की माने को सूचना पाकर इलेक्शन कमीशन ने घटना का संज्ञान में लिया। अपर निर्वाचन अधिकारी बीडीआर तिवारी ने मामले में डीएम से रिपोर्ट मांगी है।

Related posts