वाराणसी। देश की धार्मिक और संस्कृतिक राजधानी कही जाने वाली काशी नगरी पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है। पीएम के स्वच्छता मंत्र को पूरा करने के लिए तथा स्वच्छ काशी के संकल्प को अमलीजामा पहनाने के लिए कमिश्नर दीपक अग्रवाल एवं डीएम योगेश्वर राम मिश्र ने बीड़ा उठाते हुए सभी 90 वार्डों में साफ सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए 90 जिलास्तरीय अधिकारियों को पर्यवेक्षण अधिकारी नियुक्त किया। यह अधिकारी रोजाना अपने-अपने वादों में स्वच्छता के संकल्प को पूरा करने के लिए कराए जा रहे साफ सफाई एवं कूड़े की उठान आदि का निरीक्षण करेंगे और इस संबंध में रोजाना अपना रिपोर्ट प्रस्तुत करें। शुक्रवार की सुबह 7 बजे कमिश्नर और डीएम ने सभी 90 वार्ड के नियुक्त पर्यवेक्षक अधिकारियों की बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए उन्हें अपने-अपने वार्ड में रवाना किया और वार्डो मैं कूड़े की उठान एवं सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने के साथ ही रिपोर्ट तलब किया हैं।

पार्षदों को जोड़ने में जुटी मेयर

पिछले दिनों चौकाघाट में विपक्षी दलों के हंगामे के बाद महापौर का तेवर कुछ बदला है। मेयर ने शुक्रवार जलकल विभाग में नगर से सम्बन्धित सीवरेज एवं पार्षदों द्वारा बताये गये समस्याओं के संबंध में बैठक ली। इस दौरान मेयर ने जीएम (जलकल) को सख्त निर्देश दिया गया कि सीवर सम्बन्धित जो भी कार्य हो रहे हैं उस वार्ड के पार्षद के जानकारी अथवा उनके देखरेख में कराया जाय जिससे कार्य की गुणवत्ता का भी आंकलन होता रहें। इस दौरान मेयर द्वारा पूर्व में निर्देशित महमूरगंज स्थित अन्नपूर्णा नगर के सीवेज समस्या की प्रगति के संबंध में जानकारी मांगी गयी, जिसपर जीएम ने कार्य तीन से चार दिनों के अन्दर पूर्ण कराये जाने का आश्वासन दिया गया।

बरसात की तैयारी व सिल्ट सफाई पर जोर

बैठक के दौरान आने वाले बरसात के मौसम को देखते हुए अभी से ही सिल्ट सफाई के संबंध में निर्देष दिया गया जिससे बरसात के दिनों में जल-जमाव की समस्या न होने पावे। गर्मी में पानी की समस्या को देखते हुए मेयर नगर में सभी खराब पड़े हैण्डपम्पों का सर्वे कर उसे युद्धस्तर पर ठीक कराने का निर्देश दिया गया। जीएम ने मेयर के सामने आईपीडीएस, गेल एवं जल निगम द्वारा किये गये कार्याे से क्षतिग्रस्त हो रहे सीवर लाइन की समस्या रखी, जिसको संज्ञान मे लेते हुए क्षतिग्रस्त हुए सीवर लाइनों की रिपोर्ट बनाने का निर्देश दिया ताकि रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। बैठक के बाद मेयर ने वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का भी निरीक्षण किया गया।

admin

No Comments

Leave a Comment