टी 20 मुकाबले सरीखी रही मछलीशहर में ‘टक्कर’, अंतिम दौर तक डटे रहे समर्थक

जौनपुर। पूरे प्रदेश में सर्वाधिक कांटे का मुकाबला कहीं रहा तो वह मछलीशहर सीट का था। दिन भर भाजपा और बसपा के बीच कुछ इस कदर कांटे की टक्कर चलती रही कि स्पष्ट नहीं हो पा रहा था कि कौन जीतेगा। कभी बसपा प्रत्याशी टी राम कुछ वोटों से आगे हो जाते तो भाजपा की बीपी सरोज अंतर बराबर कर देते। दशा तो यह रही कि अंतिम परिणाम के पहले दोनों प्रत्याशियों के संग चुनाव पर्यवेक्षक खुद बैठे और पूरी वस्तुस्थिति स्पष्ट करने के बाद घोषणा की। यहां से भाजपा के भोलाप्रसाद सरोज ने महज 186 वोटों से जीत हासिल कर ली है।

टिकी थी सबकी निगाहे, गर्म थी अफवाहें

गौरतलब है कि बसपा ने अजगरा के पूर्व विधायक और पूर्व चीफ इंजीनियर त्रिभुवन राम को यहां से टिकट दिया था। टिकट के दावेदार रहे पुराने सांसद राम चरित्र निषाद का पत्ता साफ हुआ तो उन्होंने सपा की सदस्यता ही नहीं हासिल की बल्कि मीरजापुर से प्रत्याशी बन गये। उधर बसपाई भोलाप्रसाद सरोज ने बगावत करते हुए भाजपा का दामन थाम लिया। चुनाव के दौरान कांटे की टक्कर देखने को मिली। मतगणना में भी कुछ ऐसा ही रोमांच रहा। देर शाम घोषणा की गयी 488397 वोट हासिल करने वाले बीपी सरोज जीते हैं जबकि 488216 पाने पर भी टी राम को पराजय का सामना करना पड़ा।

Related posts