बलिया। विशुनपुरा गांव (गड़वार) मे दीपावली की देर रात एक जाति विशेष के लोगो द्वारा हिन्दू देवी देवताओं राम,लक्ष्मण व बजरंगबली का पुतला फूंकने का मामला गरमाता जा रहा है। इसको लेकर उपजे तनाव के बाद गुरुवार को ग्राम सभा के संभ्रांत लोगो व हिन्दू युवा वाहिनी के युवकों ने बैठक कर योजना बनायी व पुलिस प्रशासन को लिखित तहरीर देकर तीन दिन की मोहल्लत दी है। साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी नही होने पर सड़क से लेकर डीएम आफिस तक प्रदर्शन की घोषणा की है। तहरीर मे दलित बस्ती के वह युवक जो भीम आर्मी व ईसाई धर्म को अपनाकर हजूम मे चलने का कार्य करते है कुछ नाम व दर्जन भर अज्ञात लोगो के खिलाफ गिरफ्तार करने की मांग की है। उधर प्रभारी निरीक्षक गड़वार राम सिंह मौके पर रहकर हर स्थति को संभाल रहे है।

पहले तोड़ी गयी थी डीह बाबा की मूर्ति

ग्राम प्रधान उमेश पान्डेय व बरमेश्वर पान्डेय,मुन्ना पान्डेय समेत दलित छोड़ लगभग हर जातियों के लोग बैठक मे रहे व पुतला फुंके जाने का आक्रोश हर एक के चेहरे पर देखा जा रहा था। लोगों ने कहा कि यह तीसरी घटना है। इससे पहले डीह बाबा के स्थान पर भी मुर्ति तोड़ी गयी थी तब किसी तरह मामला शांत हुआ था जबकि पुलिस को सूचना के बाद भी कार्यवाही नही होती है। प्रत्यक्षदर्शी व डीह बाबा मंदिर पर दीपदान करने गये लोग बता रहे थे रास्ते के बीच तिराहा पर तीन पुतलों को हाथो मे लेकर हिन्दू देवी देवताओं को मुरदाबाद के नारों व अपशब्दों की बौछार की जा रही थी तो पुतला फूंक कर बस्ती के लोगो को भी चैलेंज किया जा रहा था कि कौन क्या करता है को लेकर जबरदस्त तनाव बना हुआ है। हालांकि पुलिस बल तो हटा लिया गया है पर टकराहट कभी भी हो सकती है।

आरोपित पुलिस की पकड़ से बाहर

इस मामले में आरोपित युवक जिन्होने ऐसा किया है पुलिस के ढूंढ़ने पर नही मिल पा रहे है। घटना को दोनो तरफ तनाव देखा जा रहा है। बैठक मे हर कोई यही कहता नजर आ रहा था कि बहुत हुआ अब ऐसा नही होने देंगे। पहले भी काफी कुछ कह रहा था तो घटना के बाद से अब तक पुलिस के हाथ लाली पाप देने के सिवा कुछ नही लग पाया है। अलबत्ता जो पुतला दहन का स्थल बताया गया है वहां पर जली हुई राख व कुछ जले हुये लकड़ियाँ व अवशेष दिख रहे थे ।

admin

No Comments

Leave a Comment