वाराणसी। इस बार की काशी की पंचकोशी यात्रा में सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए। सीएम ने मणिकर्णिका घाट पर संकल्प लेने के बाद श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में विधिवत दर्शन पूजन किया तथा वापस मणिकर्णिका घाट आकर मोटर वोट से अस्सी घाट पहुंचे और पंचक्रोशी परिक्रमा पर निकल पड़े। योगी पंचक्रोशी के क्रमश: पहले पड़ाव कंदवा, दूसरे भीमचण्डी पर पहुच विधिवत दर्शन पूजन किया। परिक्रमा के दौरान योगी बिना चप्पल के ही खाली पैर चल रहे थे। प्रत्येक पड़ाव पर वे मुख्य मार्ग से लगभग दो किलोमीटर पैदल चल कर मंदिरो तक पहुँच रहे थे। सभी पड़ाव एवं परिक्रमा मार्ग पर सड़क के दोनों तरफ जनता अपने योगी मुख्यमंत्री की एक झलक पाने के लिए खड़ी व कतारबद्ध रही। इतना ही नही पंचक्रोशी परिक्रमा कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर लोग फूल माला की वर्षा भी कर रहे थे। सीएम ने विधि-विधान के साथ 84 कोसी पंचक्रोशी परिक्रमा किया।

पुस्तक का किया विमोचन

इससे पहले सीएम ने अपने दो दिवसीय वाराणसी दौरे के पहले दिन शनिवार को सर्किट हाउस सभागार में विद्या सिंह द्वारा लिखित श्री हरि के दशावतार की काव्यात्मक प्रस्तुति ‘संभवामि युगे युगे’ का लोकार्पण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी सनातन परम्परा की वाहक एवं विश्व की सांस्कृतिक राजधानी हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का काशी से सांसद होने के बाद निश्चित रूप से इसकी ख्याति अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़ी है।

कांग्रेसी नेता लिये गये हिरासत में

सीएम के आगमन से पहले ही पुलिस सक्रिय हो गयी थी। पुलिस ने जिलापंचायत सदस्य आनंद सिंह रिंकू को पहले ही हिरासत में ले लिया था। भीमचण्डी पर मुख्यमंत्री को यात्रियों की समस्याओं को दूर करने के लिए कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ता आनंद सिंह रिंकू को पत्रक देने की तैयारी में थे लेकिन पुलिस ने रोकने के लिए हिरासत में लेकर राजातालाब पुलिस चौकी पर बैठाया है।

admin

No Comments

Leave a Comment