लखनऊ। हाइटेक कप्तान आशीष तिवारी ने पुलिसिंग में सुधार की खातिर कई ऐसे एप्स विकसित किये हैं जो प्रदेश स्तर पर इस्तेमाल होने लगे। स्वच्छ छवि और जन शिकायतों के प्रति संवेदनशील होने के चलते विभाग में इमेज भी सही है। बावजूद इसके राजनेताओं को वह खटकते हैं। कुछ दिन पहले पूर्व सांसद ने पुलिस चौकी में बदसलूकी का आरोप लगाया था लेकिन सीसी फुटेज सामने आने के बाद बैकफुट पर हो गये। ताजा मामला केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल का है जिसमे वह पर्याप्त सुरक्षा न मुहैया कराने की शिकायत सीधे सीएम दरबार पहुंचा चुकी है। बहरहाल अनुप्रिया खेमे से कमान अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व एमएलसी आशीष पटेल ने संभाल रखी है तो दूसरी तरफ पुलिस की तरफ से नियमों के मुताबिक पर्याप्त सुरक्षा का दावा किया गया है।

फ्लीट में कार घुसने को लेकर शुरू हुआ था विवाद

गौरतलब है कि केन्द्रीय मंत्री क्षेत्र में आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद 10 जून को बाबतपुर एयरपोर्ट जा रही थी तो तीन युवकों की कार उनके फ्लीट में घुस आयी थी। मिर्जामुराद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया लेकिन अगले दिन सभी को कोर्ट से जमानत मिल गयी। इसके बाद सुरक्षा में लापरवाही को लेकर आरोपों का सिलसिला आरम्भ हो गया। आशीष पटेल का आरोप था कि केंद्रीय राज्य मंत्री के संसदीय क्षेत्र में भ्रमण के दौरान जब जिप्सी मांगी जाती है तो एसपी उसमें तेल भरवाने की शर्त रखते हैं। दूसरी तरफ वह खुद अपने एस्कॉर्ट में जिप्सी और कमांडो लेकर चलते हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि उन्हें केंद्र सरकार के मंत्री से अधिक खतरा है।

admin

No Comments

Leave a Comment