सोनभद्र पहुंचे सीएम ने सुनायी खरी-खरी: पीड़ितो पर रही सौगातों की बरसात तो विपक्ष को लिया आड़े हाथ

सोनभद्र। उम्भा गांव (घोरावल) में हुई वारदात को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा समेत दूसरे नेताओं के मैदान से हटने के बाद सीएम योगी की रविवार को इंट्री हुई। सीएम घटना को लेकर पूरे तेवर में थे और उन्होंने विपक्ष को आइना दिखाने के साथ खरी-खरी सुनायी। दोषियों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई करने को सीएम ने अपनी प्रतिबद्धता बतायी। गोलीकांड में मृतकों को श्रद्धांजलि एवं उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए सीएम ने कहा कि घटना में लिप्त लोगों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई किया जाएगा। उन्होंने स्थानीय लोगों से कहा कि जिला प्रशासन को निर्देशित कर दिया गया हैं कि इस गांव में जिस जमीन पर जो लोग कृषि कार्य कर रहे हैं उन्हें उस भूमि पर खेती करने दिया जाए। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस द्वारा बरती गई शिथिलता के संबंध में मिली शिकायत की जांच कराई जा रही है। गड़बड़ी मिलने पर संबंधित पुलिस अधिकारियों पर निश्चित रूप से कार्यवाही किया जाएगा।

अहेतुक सहायता तीन गुना से अधिक बढ़ायी

सीएम ने मुख्यमंत्री राहत राशि बढ़ाते हुए मृतकों के परिजनों को 18.50 लाख व घायलों को 2.50 लाख करने की घोषणा की। साथ ही कहा कि वनवासी, मूसहर, कौल, अनुसूचित जनजाति एवं गांव के गरीब प्रत्येक परिवार को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत एक माह के अंदर एक मकान मिलेगा। जिनके घरों में बिजली नहीं है तो उन्हें बिजली कनेक्शन अथवा सोलर पैनल की व्यवस्था कराया जाएगा ताकि घरों में रोशनी रहे। क्षेत्र में सुरक्षा की दृष्टि से उम्भा में पुलिस चौकी की स्थापना होगी। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देशित किया जिन गांवों में आंगनवाड़ी केंद्र नही है उसका सर्वे कराकर आंगनवाड़ी केंद्र की स्थापना सुनिश्चित कराया जाए तथा गांव की इंटर पास लड़कियों को प्रशिक्षित करके आंगनवाड़ी केंद्रों पर उनकी सेवाएं दे जाय।

पोछे पीड़ितों को आंसू, बताया बख्शे नहीं जायेंगे दोषी

सीएम ने पीड़ित 21 परिवार के परिजनों को 50-50 हजार रुपये धनराशि का चेक प्रदान किया। उम्भा गांव पहुंचने पर सीएम ने सबसे पहले घटना में मृतक व घायलों के परिजनों के पास स्वयं पहुंचकर उन्हें ढाढ़स बधाते हुए उनका कुशलक्षेम पूछा। परिजनों के छोटे-छोटे बच्चे के सिर पर हाथ फेरते हुए मुख्यमंत्री ने दोषियों को न बख़्शने की बात कही। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव, एमएलसी केदारनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ अनूप चंद्र पांडे, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी भारी संख्या में गांव के लोग उपस्थित रहे। सीएम योगी ने घटनास्थल का मौके पर जाकर जायजा लिया।

Related posts