वाराणसी। शहर की बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने तल्ख तेवर अख्तियार किये हैं। निशाने पर ट्रैफिक पुलिस है जिसकी कारगुजारी उन्होंने शहर का निरीक्षण कर देख लिया है। कमिश्नर के तेवर भांप कर ट्रैफिक पुलिस की तरफ से अदेश जारी करने का सिलसिला अरम्भ हो चुका है। फ्लाइओवर हादसे के एक माह बाद एसपी ट्रैफिक सुरेशचंद्र रावत को आभास हुआ कि शहर का एक बड़ा हिस्सा चांदपुर की तरफ से आने वाली सवारी बसों के चलते जाम की चपेट में रहता है। टैÑफिक जाम के समाधान की खातिर साजन, सिगरा, रथयात्रा, आकाशवाणी, महमूरगंज, मण्डुवाडीह होकर आवागमन करने वाली निजी व अनुबन्धित रोडवेज बसों सहित समस्त प्रकार की बसों को अन्य कोई वैकल्पिक व्यवस्था होने तक पुलिस अधिनियम 1861 की धारा 31 का प्रयोग करते हुए जनहित में तात्कालिक प्रभाव से प्रतिबन्ध कर दी गयी है।

एक माह बाद जाम को लेकर हुई चिन्ता

गौरतलब है कि 15 मई को निमार्णाधीन लहरतारा-चौकाघाट उपरिगामी सेतु की बीम गिर जाने के कारण रास्ता पूरी तरह से बन्द कर दिया गया था। जिससे शहर से बाहर रथयात्रा, मण्डुवाडीह चौराहा होकर जाने का ही एक मात्र रास्ता बचा, जिससे सभी हल्के वाहनों का आवागमन हो रहा था। इसी मार्ग पर बसों का भी आवागमन होने के कारण रथयात्रा चौराहा, सिगरा व साजन चैराहे पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो जा रही , जिससे आम जन सामान्य के आवागमन में बाधा उत्पन्न हो रही थी। सफाई के रूप में एसपी ट्रैफिक का कहना था कि उक्त घटना के बाद पूर्व में मौखिक निर्देश पर समस्त बसों का संचालन चांदपुर तक ही निर्धारित किया गया था, परन्तु कतिपय बस चालकों द्वारा बसों को उक्त रास्ते से शहर में प्रवेश करा दिया जाता है, जिससे जाम की स्थिति उत्पन्न होती है।

यह हुआ है नया इंतजाम

इलाहाबाद, मीरजापुर, सोनभद्र व चन्दौली की तरफ से आने वाली निजी और अनुबन्धित रोडवेज बसों सहित समस्त प्रकार की बसें मोहनसराय से प्रवेश कर चांदपुर चौराहे तक ही आ सकेंगी। चांदपुर चौराहे पर बसों को खाली कर पुन: वहीं से उक्त जनपदों की सवारी को लेकर अपने गन्तव्य को जायेंगी। चांदपुर चौराहे पर बसों से उतरने वाली सवारी, जिसे कैण्ट रेलवे/बस स्टेशन अथवा अन्य किसी गन्तव्य को जाना है, वह वहॉं से संचालित होने वाले आटो रिक्शा के माध्यम से अपने गन्तव्य को जायेंगे। जिन बसों को शहर के अन्दर आना है वह बसें चांदपुर चौराहा, लोहता, जन्सा, कपसेठी, बाबतपुर, हरहुआ, तरना होकर शहर में प्रवेश कर सकेंगी। यह प्रतिबन्ध अन्य कोई वैकल्पिक व्यवस्था होने तक जनहित में तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment