वाराणसी। इसे सीएम की हनक माना जाये या कांग्रेस के पूर्वघोषित कार्यक्रम का असर लेकिन मंगलवार को कमिश्नर दीपक अग्रवाल और डीएम योगेश्वर राम मिश्र 44 डिग्री सेल्सियस के भीषण गर्मी में खड़ी दोपहरी पंचक्रोसी परिक्रमा के लिए निकल पड़े। आला अफसर धार्मिक यात्रा पर नहीं थे बल्कि श्रद्वालुओं के लिये यात्रा मार्ग सहित पांचों पड़ावो पर किये गये बुनियादी अवस्थापना सुविधाओं का जायजा ले रहे थे। दोपहर 11 से 3 बजे तक लगभग चार घंटे में अधिकारीद्वय अस्सी घाट से परिक्रमा शुरू कर अन्तिम पड़ाव कपिलधारा तक यात्रा कर पॉचों पड़ाव एवं परिक्रमा मार्ग पर किये प्रबंधों का जायजा ले रहे थे। लिया। निरीक्षण के दौरान सीएमओ डा. बीवी सिंह, एडीएम प्रोटोकोल, एसपी ट्रैफिक, एसडीए, जिला पंचायत राज अधिकारी, अधीशासी अधिकारी जिला पंचायत सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

बुनियादी सुविधाओं पर दिया विशेष जोर

कमिश्नर ने भीमचण्डी, रामेश्वर एवं शिवपुर पड़ाव स्थित धर्मशालाओं में गंदगी देख नाराजगी जताते हुए शिफ्टवार सफाई कर्मियों की तैनाती कर समुचित सफाई कराये जाने हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया। भीमचण्डी धर्मशाला पर दो में से एक खराब हैण्डपम्प का रिबोर स्थल विवाद के कारण न होने की जानकारी पर एसडीएम को आज ही स्थल निर्धारित करते हुए तीन दिन के अन्दर हर हालत में बोरिंग कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने पॉचो पड़ावों के धर्मशालाओं में श्रद्वालुओं के लिये पंखा की व्यवस्था कराये जाने हेतु भी अधिकारियों सहित पंचक्रोसी परिक्रमा समिति के पदाधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने परिक्रमा के मुख्य मार्गो के क्रासिंग स्थलों पर पुलिस पिकेंट लगाये जाने हेतु एसपीट्रेफिक को निर्देशित किया। निरीक्षण के दौरान पड़ावों के धर्मशालाओं पर रहे श्रद्वालुओं को कमिश्नर एवं डीएम ने लाई-चना एवं सतुआ का पैकेट भी वितरित किये। कमिश्नर ने अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहॉ कि पंचक्रोसी परिक्रमा के श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी नही होनी चाहिये।

वसूली की तो भेज देंगे जेल

निरीक्षण के दौरान शिवपुर एवं कपिलधारा स्थित धर्मशालाओं पर अतिक्रमण एवं अवैध कब्जा किये जाने की जानकारी पर कमिश्नर ने जिला पंचायत के अधीशासी अधिकारी को इन धर्मशालाओं का तहसील से सम्पत्ति विवरण निकलवाने के साथ ही इसका स्वामित्व प्राप्त किये जाने का निर्देश दिया। ताकि धर्मशालाओं का सही ढ़ग से रखरखाव हो सके। कपिलधारा पड़ाव पर सिथत पर्यटन विभाग के सामुदायिक शौचालय के सुपरवाइजर द्वारा श्रद्वालुओं से पैसा लिये जाने की जानकारी पर कमिश्नर ने सुपरवाइजर को सबके सामने तलब करते हुए कड़े निर्देश दिये कि पंचक्रोसी यात्रा के दौरान किसी भी श्रद्वालु से पैसा न लिया जाय और यदि इसकी शिकायत मिली, तो सुपरवाइजर को जेल भेज दिया जायेगा। उन्होने कपिलधारा पड़ाव के धर्मशाला के खाली भूमि पर 5 अस्थायी शौचालय बनाये जाने हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी एवं अधीशासी अधिकारी जिला पंचायत को निर्देशित किया। निरीक्षण के दौरान पाण्डेयपुर से कपिलधारा तक शहर उत्तरी के विधायक रविन्द्र जायसवाल भी साथ रहे। उन्होने पाण्डेयपुर मार्ग को दुरूस्त कराये जाने के साथ पाण्डेयपुर चौराहा पर सड़क पर सीवर का जर्जर एवं टूटे ढक्कन को दिखाते हुए तुरन्त ठीक कराये जाने को कहा। विभागीय अधिकारी पड़ावो के धर्मशालाओं पर पेयजल, प्रकाश, शौचालय एवं सफाई व्यवस्था हर हालत में सुनिश्चित कराये तथा इसका रोजाना स्वयं निरीक्षण भी करे। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि वे स्वयं एवं जिलाधिकारी औचक निरीक्षण करते रहेगे और यदि कोई कमी मिली, तो विभागीय अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर कड़ी कार्यवाही अवश्य किया जायेगा। उन्होने सभी पड़ावों पर जीवनरक्षक दवाओं के साथ डाक्टरो की मय एम्बुलेस 24 घंटे उपस्थिति सुनिश्चित कराये जाने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भी निर्देशित किया। निरीक्षण के दौरान मौके पर लगे हैण्डपम्पों को स्वयं जिलाधिकारी ने चलाकर उससे पानी आने का सत्यापन किया।

admin

No Comments

Leave a Comment