चंदौली। पुलिस की छवि कुछ ेसी बन चुकी है कि किसी वारदात के बाद पीड़ित थाने जाकर मुकदमा कायम कराने से कतराता है। तीखे सवालों की बरिश और मामले को फर्जी करार देने की शिकायतें तो अमूमन मिलती है लेकिन गुरुवार को सदर कोतवाली में कुछ अलग ही मंजर देखने को मिला। यहां महज एक पांच साल का बच्चा अकेले ही रपट लिखवाने के लिए पहुंच गया जिसको देखकर सारे पुलिस वाले हतप्रभ हो गए। दरअसल दो लोगों ने किसी बात को लेकर बच्चे को मार दिया था जिससे क्षुब्ध होकर वह रपट लिखाने के लिए खुद ही चल दिया था।

घरवालों के बदले पुलिस से की शिकायत

बताया जाता है कि रपट लिखावाने के लिए पहुंचा बच्चा बिछिया कला का निवासी है। क्षेत्र के ही दो लोगों ने इस बच्चे को मार दिया था जिसके बाद ये बच्चा अपने घर पर शिकायत ना करके, सीधे कोतवाली में तहरीर डालने पहुंच गया। इंस्पेक्टर आशुतोष कुमारओझा ने मामले को संज्ञान लेते हुए तहरीर लिखवाया साथ ही उचित कार्रवाई की बात भी कही। थाने में रपट लिखवाने के बाद बच्चा काफी उत्साहित हो गया। पुलिस के इस रूप को देखकर बच्चे में जहां खुशी दिखाई दी। गौरतलब है कि एसपी संतोष सिंह ने अधीनस्थों को रपट लिखने में कोई काताही न करने का आदेश दे रखा है जिसका नतीजा है कि पुलिस मुकदमा कायम करने में परहेज नहीं करती है। बच्चे की शिकायत पर पुलिस ने आश्वास्त किया है कि शिकायत पर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

admin

No Comments

Leave a Comment