चंदौली। विधानसभा चुनाव की सरगर्मी बढ़ने लगी है। जिले में बुधवार को पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच सपा, बसपा व भाजपा समेत विभिन्न दलों के 13 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन करने वालों में मुख्य रुप से समाजवादी पार्टी के बाबूलाल, बीजेपी से साधना सिंह, बीएसपी के उपेंद्र सिंह और श्यामनारायण उर्फ विनीत सिंह शामिल थे। इस दौरान पुलिस की सख्त पहरा देखने को मिला।

 

समर्थकों की उमड़ी भीड़

मुगलसराय से सपा उम्मीदवार बाबूलाल अपने भाई और पूर्व सांसद रामकिशुन यादव के साथ नामांकन करने पहुंचे। नामांकन जुलूस में विधानसभा क्षेत्र के हजारों समर्थकों की भीड़ उनके साथ थी। हालांकि नामांकन स्थल के दो सौ मीटर पहले ही जुलूस को रोक दिया गया। नामांकन के बाद बाबूलाल अपनी जीत को लेकर आश्वस्त दिखे। उनके मुताबिक इस बार उनकी जीत सुनिश्चित है। इस वक्त पूरे प्रदेश में इस वक्त सपा की लहर चल रही है।

 

 इन्होंने ने भी किया नामांकन

आयोग के निर्देशानुसार सुबह दस से तीन बजे तक चलने वाले नामांकन के दौरान मुगलसराय विस क्षेत्र से भाजपा की साधना सिंह ने अपनी दावेदारी प्रस्तुत की। वहीं इसी सीट से सपा के बाबूलाल के अलाना प्रगतिशील मानव समाज पार्टी के बब्बन चौहान ने भी नामांकन दाखिल किया। सकलडीहा विधानसभा क्षेत्र में बसपा के उपेंद्र सिंह, लोकदल के नसीम अंसारी, राष्ट्रीय लोकदल के हरिद्वार सिंह यादव व बहुजन मुक्ति पार्टी के चंद विजय सिंह ने नामांकन किया। इस क्रम में जिले के सबसे चर्चित विस क्षेत्र सैयदराजा से सपा के मनोज कुमार सिंह, बसपा के श्यामनारायण उर्फ विनीत सिंह, जन अधिकार मंच के राजेंद्र मौर्य के साथ निर्दल उम्मीदवार के रूप में त्रिभुवन नारायण सिंह ने दावेदारी पेश की।

पुलिस का रहा कड़ा पहरा 

नामांकन के पांचवे दिन मंडी परिसर में पुलिस का कड़ा पहरा देखने को मिला। बम निरोधक टीम के साथ कई टुकड़ियों में पुलिस के जवान मौजूद रहे। वहीं नामांकन स्थल से दो सौ मीटर की दूरी तक पुलिस बराबर च्रकमण करती रही। वहीं गहन जांच के बाद ही उम्मीदवारों व उनके समर्थकों को अंदर जाने की अनुमति प्रदान की गई। नामांकन के दौरान उस समय असहज स्थिति उत्पन्न हो गई जब सपा उम्मीदवार मनोज सिंह के साथ जिला पंचायत सदस्य सरिता सिंह नामांकन स्थल पर पहुंच गई। काफी मान मनौव्वल के बावजूद उन्हें अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गई। आयोग के निर्देश पर पुलिस कर्मियों ने उम्मीदवार के साथ चार प्रस्तावक को ही अंदर जाने दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment