चंदौली। पूर्वांचल के बाहुबलियों के लिए सियासत का अखाड़ा बनी सैय्यदराजा सीट पर कांटे का मुकाबला देखने को मिल रहा है। एक ओर बीजेपी की ओर से माफिया डॉन बृजेश सिंह के भतीजे सुशील सिंह हैं तो दूसरी ओर पूर्व एमएलसी श्यामनारायण सिंह उर्फ विनीत सिंह। इन दोनों से इतर वर्तमान विधायक मनोज सिंह डब्लू अलग ही ताल ठोंक रहे हैं। बीजेपी ने इस सीट को प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया है। सियासी मैदान में बाहुबली विनीत सिंह को मात देने के लिए पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। उम्मीदवार सुशील सिंह के पक्ष में प्रचार करने के लिए बीजेपी की ओर से दो केंद्रीय मंत्रियों ने मोर्चा संभाल लिया है। केंद्रीय मंत्री मनोज सिंहा और महेंद्र पांडेय ने रविवार को कमालपुर में रैली कर विनीत सिंह को घेरने की कोशिश की।

दोनों मंत्रियों के निशाने पर बीएसपी

रैली के दौरान मनोज सिंहा और महेंद्र पांडेय ने बीएसपी सरकार को सबसे ज्यादे निशाने पर लिया। दोनों ही मंत्रियों ने विनीत सिंह का तो नाम नहीं लिया लेकिन अपने अंदाज में बहुत कुछ कह गए। महेंद्र पांडेय ने कहा कि मायावती अब कहती हैं कि पत्थर नहीं लगाऊंगी, पूरा प्रदेश उनके कारनामों को जान चुका है। नोटबंदी से सबसे ज्यादे परेशान मायावती रही। मायावती के अलावा दोनों ही नेताओं ने एसपी सरकार पर भी निशाना साधा।

बीजेपी ने तेज किया प्रचार अभियान

फिलहाल सैय्यदराजा सीट पर मुकाबला त्रिकोणीय बना हुआ है। सुशील सिंह और विनीत के अलावा वर्तमान विधायक मनोज सिंह डब्लू भी पूरे दमखम के साथ मैदान में बने हुए हैं। अगर चुनाव प्रचार की बात की जाए तो यहां पर बीजेपी कार्यकर्ता ज्यादा सक्रिय दिख रहे हैं। नामांकन के तुरंत बाद सुशील सिंह ने दो मंत्रियों की सभा कराकर माहौल अपने पक्ष में करने की कोशिश की है। यही नहीं सोशल मीडिया पर भी सुशील सिंह के समर्थक छाए हुए हैं। व्हाट्सअप ग्रुप के अलावा फेसबुक और यू ट्यूब पर बीजेपी कैंडिडेट के समर्थन में प्रचार चल रहा है। सुशील सिंह समर्थकों के निशाने पर सबसे ज्यादे बीएसपी उम्मीदवार विनीत सिंह हैं। दूसरी ओर बीएसपी कार्यकर्ता अपने पार्टी के परंपरागत वोटबैंक पर भरोसा करते हुए कैडर बेस प्रचार कर रहे हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment