चुनावी सरगर्मी के बीच बाहुबली मुख्तार दिखेंगे अगले पखवारे में कानूनी लड़ाई के मोर्चे पर, कई अहम मामलों की सुनवाई

लखनऊ। लोकसभा चुनाव की सरगर्मी चरम पर है। दूसरे चरण के मतदान के लिए प्रचार समाप्त हो चुका है और गुरुवार को वोटिंग होनी है। पूर्वांचल में चुनाव अंतिम दो चरणों में होना है लेकिन अधिकांश सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है। बावजूद इसके पूर्वांचल की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले अंसारी परिवार के जनप्रतिनिधि मऊ सदर के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी समूचे परिदृश्य से गायब ही नहीं है बल्कि दूसरे मोर्चे पर संघर्ष करते दिख रहे हैं। अगले पखवारे मुख्तार को भाजपा विधायक कृष्णानंद राय समेत…

Read More

भाजपा की सूची से बाहुबलियों से लेकर तमाम लोगों को मिल गया साफ संदेश, बिन मांगे मोती मिले मांगे मिले न …

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को जो सूची जारी की है उसमें महज सात नाम है। बावजूद इसमें जो संदेश था उसका आशय साफ था। भाजपा ने जहां बाहुबलियों को साफ कर दिया कि पार्टी में सहयोगियों वाले ‘बैकडोर’ से भी इंट्री संभव नहीं है वहीं भरोसा कायम रखने वाले सहयोगियों को इनाम के तौर पर एक्ट्रा सीट प्रदान कर दी है। बालीवुड के सुपरस्टार रविकिशन को गोरखपुर के चुनावी मैदान में उतारते हुए स््पष्ट करने की कोशिश की गयी है कि भले बालीवुड के चंद कलाकारों को कोई…

Read More

जीत की हो आस तो अच्छे लगते हैं ‘दाग’, कांग्रेस के बाद बसपा ने भी ‘दमदार’ प्रत्याशियों पर जताया विश्वास

लखनऊ। सत्ता पाने की खातिर चुनाव में जीत हासिल करनी होती है और इसके लिए राजनैतिक दल भले दूसरे का दामन दागदार बताते हो लेकिन बात जिताऊ प्रत्याशी की हो तो उन्हें भी ‘दाग’ अच्छे लगे हैं। लोकसभा चुनावों में जीत हालिक कर उत्तर प्रदेश में अपना बजूद बचाने की लड़ाई लड़ रही कांग्रेस को अब न तो अरबों रुपये के एनएचआरएम घोटाले में कोई खामी नजर आती है न ही इसके केन्द्र बिन्दु रहे बाबू सिंह कुशवाहा से गठबंधन करने में। अब तक जिन्हें बाहुबली कह कर कोसती थी…

Read More

शिवपाल के लिए ‘फेमिली फर्स्ट’, डिंपल की तरह अखिलेश के खिलाफ भी नहीं उतारेंगे प्रत्याशी!

लखनऊ। सपा की स्थापना करने में मुलायम सिंह के साथ दिन-रात एक करने वाले शिवपाल यादव पहली बार किसी चुनाव में अकेले हैं। दरअसल कैबिनेट मंत्री रह चुके शिवपाल को भतीजे अखिलेश ने पार्टी में कुछ इस मुकाम पर पहुंचा दिया था कि उनके पास इसे छोड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था। शिवपाल इसके लिए अखिलेश से अधिक चचेरे भाई रामगोपाल यादव को जिम्मेदार मानते हैं जिनके पुत्र अक्षय यादव के खिलाफ वह फिरोजाबाद से चुनाव भी लड़ रहे हैं। बावजूद इसके उनका परिवार से पूरी तरह मोहभंग…

Read More

सुरक्षा बहाल नहीं हुई उल्टे बाहुबली धनंजय की मुश्किलें और बढ़ी, बडा सवाल गोपनीय दस्तावेज देने वाला कौन है ‘करीबी’

लखनऊ। बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह को लेकर हाईकोर्ट ने जिस कदर सख्त रुख अख्तियार किया है उससे प्रदेश शासन के गृह विभाग में खलबली मची है। दरअसल सुरक्षा की मांग को लेकर धनंजय की तरफ से जो दस्तावेज कोर्ट में उललब्ध कराये गये थे वह परम गोपनीय की श्रेणी के थे। इस गोपनीय कागजात तक पहुंच को लेकर कोर्ट ने तेवर अपनाते हुए यहां तक कह दिया कि याचिका का निस्तारण तो हो जाता लेकिन यह जानना जरूरी है कि इस तक याची की पहुंच कैसे हुई। कोर्ट ने…

Read More

जौनपुर: वेट एंड वॉच के मोड में हैं सभी दल, एक तो लगा चुके हैं हर किसी के ‘दर’ पर ‘चक्कर’

लखनऊ। सिर्फ भाजपा ही नहीं बल्कि गठबंधन से लेकर कांग्रेस तक इस सीट पर पत्ते नहीं खोल रही है। दरअसल चुनाव बाद में होने के चलते सभी प्रमुख दल दूसरे के प्रत्याशी को देखने के बाद अपना दांव लगाने के फेर में हैं। यही नहीं भाजपा के लिए समस्या एक और हैं। एनडीए में शामिल दो घटक दलों के जरिये किसी ने इस पर दावा ठोंका है लेकिन दागदार दामन होने के ने नाते पार्टी कन्नी काट रही है। वैसे भी मौजूदा हालात में सहयोगी दल अधिक दबाव बनाने की…

Read More

निषाद को साध भाजपा ने पायी बड़ी ‘राहत’, अखिलेश को जल्द ही लग सकता है एक और बड़ा झटका!

लखनऊ। लोकसभा चुनावों के पहले चरण की वोटिंग से पहले निषाद पार्टी को अपने पाले में कर भाजपा ने समाजवादी पार्टी को करारा झटका दिया है। दरअसल निषाद पार्टी सिर्फ गोरखपुर तक सीमित नहीं है बल्कि प्रदेश की दो दर्जन से अधिक सीटों पर इस समुदाय की आबादी समीकरणों को प्रभावित करने की क्षमता रखती है। चर्चा भले गोरखपुर उपचुनावों की होगी हो लेकिन पिछले विधानसभा चुनाव में ज्ञानपुर की सीट निषाद पार्टी ने जीती थी जबकि जौनपुर के मल्हनी में दूसरे नंबर पर थी। भदोही,मीरजापुर,चंदौली,गाजीपुर,बलिया से लेकर गोरखपुर के…

Read More

अमेठी से बड़ा राजबरेली में कांग्रेस को लगा झटका, एक तरफ जमीनी नेता दिनेश तो दूूसरी तरफ नाम के भरोसे सोनिया

लखनऊ। नाम की घोषणा भले बुधवार को की गयी हो लेकिन भाजपा के ‘चाणक्य’ अमित शाह ने एक साल पहले ही सोनिया गांधी को रायबरेली में घेरने की तैयारी शुरू कर दी थी। भले ही यह सीट कई पुश्तों से कांग्रेस की हो लेकिन परिवार को पहली बार कड़ी चुनौती का सामना करना होगा। वजह, प्रत्याशी बनाये गये एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने अपने ‘दम’ पर जिला पंचायत का चुनाव जितवा कर दिखा दिया था कि वह हवाई नहीं जमीनी नेता है। खास यह कि पिछले साल अप्रैल में ही…

Read More

सुरक्षा की मांग ने दर्शा दिया था ‘निरहुआ’ का टिकट है पक्का, कहीं अखिलेश को अति ‘आत्मविश्वास’ न पड़ जाये मंहगा

लखनऊ। सबसे सफल भोजपुरी कलाकारों में से एक बिग बॉस शो के कंटेस्टेंट रह चुके दिनेश लाल यादव निरहुआ को चुनाव मैदान में उतारने के साथ भाजपा ने साफ कर दिया है कि अजमगढ़ की सीट पर वह वाकओवर देने के मूड में नहीं है। जातीय समीकरणों को देखते हुए अखिलेश ने यहां से चुनाव लड़ने का फैसला लिया था। घोषणा भले बुधवार को की गयी लेकिन इसकी पटकथा पहले ही लिखी जा चुकी थी। दरअसल निरहुआ ने सुरक्षा के लिए जो मांग की थी उसमें साफ कर दिया था…

Read More

सपा प्रत्याशी के ‘गंभीर आरोपों’ के बाद ‘डैमेज कंट्रोल’ में जुटी भाजपा, एक ही सीट पर बनेगी बात

लखनऊ। सीएम योगी के क्षेत्र गोरखपुर से सपा का टिकट मिलते ही राम भुआल निषाद ने निषाद पार्टी पर गंभीर आरोप लगाये हैं। मौजूदा सांसद और निषाद पार्टी के अध्यक्ष के पुत्र प्रवीण कुमार निषाद के स्थान पर टिकट पाने वाले राम भुआल निषाद ने मोटी रकम के बदले भाजपा का समर्थन करने का आरोप लगाया है। पूर्व राज्यमंत्री रामभुआल निषाद ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि निषाद पार्टी के अध्यक्ष डा. संजय निषाद को अपने समाज के मान-सम्मान की कोई चिंता नहीं है। वह सौदेबाजी करते हैं और इसी…

Read More