वाराणसी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। असम में एनआरसी को लेकर ममता बनर्जी की ओर दी गई धमकी के खिलाफ पूरे देश में उनके खिलाफ आवाज उठने लगी है। दीदी की आपत्तिजनक बयानों को संज्ञान में लेते हुए बनारस कोर्ट उनके खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया है।

क्या है ममता बनर्जी पर आरोप ?

ममता बनर्जी के खिलाफ वरिष्ठ अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने एक परिवाद दाखिल किया था। उनका आरोप था कि ममता बनर्जी की धमकी भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था पर कुठाराघात है। उनकी इस धमकी से समाज और देश के नागरिकों पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा। कमलेश चंद्र के इन आरोपों को कोर्ट ने गंभीरता से लिया और ममता बनर्जी के खिलाफ धारा 153 ए, 121, 511 और 506 के तहत केस दर्ज करने का आदेश दिया। अदालत ने इस मामले की सुनवाई के लिए 6 सितंबर की तारीख मुकर्रर की है।

ममता को हो सकती है आजीवन कारावास की सजा

अगर सुनवाई के दौरान ममता बनर्जी पर आरोप सिद्ध होते हैं तो संबंधित धाराओं में उन्हें आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है। दरअसल एनआरसी को लेकर ममता बनर्जी ने पिछले दिनों केंद्र सरकार को धमकी देते हुए कहा था कि बीजेपी इस कानून के जरिए देश को बांटने की कोशिश कर रही है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा था कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। देश में गृहयुद्ध छिड़ेगा और लोगों का खून बहेगा।

admin

No Comments

Leave a Comment