भदोही। गोपीगंज थाने में फरियादी रामजी मिश्र की कथित पिटाई से हुई मौत का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। घटना के चौथे दिन भी आरोप-प्रत्यारोप चल रहे हैं। राजनैतिक दखलंदाजी देख एसपी सचिंद्र पटेल के आदेश पर सोमवार को पीड़ित परिवार की बेटी दीपाल के तहरीर पर गोपीगंज के पूर्व कोतवाल सुनील वर्मा के खिलाफ जहां हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में चौकी इंचार्ज को पहले ही लाइन हाजिर किया जा चुका है। फिलहाल इस मामले में पुलिस बैकफुट पर चली गयी है। डीएम राजेंद्र प्रसाद और एसपी सचिंद्र पटेल ने पीड़ित परिवार के साथ पूरी संवेदना जतायी है। अफसरद्वय का कहना है कि पीड़ित परिवार के साथ जिला प्रशासन खड़ा है। घटना के दोषी लोगों को दंड़ित किया जाएगा। इस बीच शेष नारायण पांडेय को थाने का नया प्रभारी बनाया गया है। इस मामले को लेकर पुलिस एकदम उलझ गयी है। सोशलमीडिया पर पुलिस अधिक हमले हो रहे हैं। पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाये जा रहे हैं।

कलेक्टर-कप्तान ने दी सफाई

सोशल मीडिया और मीडिया में कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगने पर आला अफसर सफाई देने लगे हैं। डीएम ने इस मसले पर कहा कि जिस दिन घटना हुई उस दिन हमनें एडीएम और एसडीएम को भेजा था। इसके अलावा हमारे स्तर से आर्थिक सहायता के लिए भी एडीएम को निर्देशित किया गया है। तहसील प्रशासन को भी पीड़ित परिवार के लिए मदद पहुंचाने के लिए कहा गया है। शासन को भी निर्धारित चैनल के माध्यम से अगवत कराने की प्रक्रिया गतिमान है। जहां तक पीड़ित परिवार से मिलने का सवाल है मैं शासन के काम से लखनउ था। जिले में बाहर होने की वजह से नहीं जा सका हूं। परिवार के साथ मेरी पूरी संवेदनशीलता है। जल्द ही पीड़ित परिवार से मिलूंगा और आर्थिक सहायता के लिए निर्देशित किया गया था, उसकी क्या प्रगति है, देखता हूं। डीएम ने कहा घटना की मजिस्टेटी जांच के आदेश दिए गए हैं। इस मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधीक्षक भदाही ने भी परिवार के साथ पूरी संवेदना जतायी है। उन्होंने कहा है कि जो हुआ वह गलत हुआ। जांच में जिसकी जिम्मेदारी बनती है उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। प्रथम दृष्या जिनकी जिम्मेदारी बनती है उन्हें लाइन हाजिर कर दिया गया हैं इसके अलावा गोपीगंज के पूर्व कोतवाल के खिलाफ हत्या का मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

admin

No Comments

Leave a Comment