राज्यमंत्री अनिल राजभर के आरोपों से तिलमिलाये कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश का पलटवार, इस्तीफा जेब मे लेकर चलता हूं

मऊ। निकाय चुनाव को लेकर भाजपा और सहयोगी पार्टी सुभासपा में तलवारें खिंच गयी है। भाजपा की तरफ से कमान राज्यमंत्री अनिल राजभर ने संभाल रखी है। उनके आरोपों से तिलमिलाये कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने सोमवार को पलटवार करते हुए कहा कि मुझ पर आरोप लगाने वालों को चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिये। मधुबन नगर पंचायत क्षेत्र के उसरी पोखरा पर चेयरमैन प्रत्याशी बिम्मी जायसवाल के समर्थन मे चुनावी सभा में ओमप्रकाश के तेवर तीखे थे। उनका कहना था मैं धमकी से डरने वाला नहीं, अपना इस्तीफा हमेशा जेब मे लेकर चलता हूं। मै पिछड़े व दलित समाज के हित के साथ किसी से समझौता नहीं करुगां। उन्होने कहा कि आज दलित व पिछड़ा समाज जाग गया है जो किसी के बहकावे मे आने वाला नहीं है। इससे विपक्षियों मे बौखलाहट है।
आगामी लोकसभा तक का रोडमैप दिखाया
नाम लिये बगैर अनिल पर वार करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा, आज पिछड़े समाज के हितैषी बनने का भाषण देने वाले और कभी सपा और अमर सिंह का बाजा बजाने वाले नेता ओमप्रकाश राजभर पर आरोप लगा रहे है। सपा ,बसपा , कांग्रेस ही नहीं भाजपा ने भी बंदर पाल रखे है जो जाति के नाम पर नाचने का काम करते है। मै गुलाम बनकर नहीं रह सकता। जिस तरह विधानसभा मे सुभासपा का पीला झंडा लहराया उसी तरह निकाय चुनाव मे लहराते हुए 2019 के चुनाव मे दिल्ली की पंचायत मे भी लहराने का काम करेगा । चेयरमैन पद की प्रत्याशी बिम्मी जायसवाल की जीत आपकी, पिछड़े ,दलित समाज की प्रतिष्ठा से जुड़ चुका है। आप सुभासपा को जीताकर बिरोधियों के मूंह पर ताला लगाने का काम करे। आपकी ताकत आपका वोट है। इसे पैसे के बल पर खरीददारों के हाथ मे न जाने दे।

Related posts