कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर में मोर्चा संभाला, दिया आश्वासन निर्दोष के खिलाफ नहीं होगा अन्याय और पुलिस निकली गलत तो उस भी कार्रवाई

वाराणसी। हरसोस गांव (जंसा) एक दिन पहले पुलिस के कथित अत्याचार को लेकर सपाइयों के मुखर होने के बाद गुरुवार को कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर मोर्चा संभालते दिखे। सुबह 10 बजे पहुंचे मंत्री ने पीड़ितों से मुलाकात कर आश्वस्त किया कि किसी निर्दोष के साथ अन्याय नही होगा। घटना को दुर्भाग्य पूर्ण बताते हुए कहा यदि पुलिस भी इस प्रकरण में जिम्मेदार होगी तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्यवाही होगी। इसके संग प्रशासन से उन्होंने भय का वातावरण खतम कर शांति ब्यवस्था कायम हेतु निर्देश दिया। जानकारी के क्रम में महिलाओ द्वारा बताया गया की हरसोस गांव में बस्ती के बीचों बीच शराब की दुकान है उसे यहां से अन्यत्र किया जाय। घनी आबदी क्षेत्र होने से यहां एक पुलिस चौकी खुलवाया जाय ताकि कोई बड़ी दुर्घटना न हो सके। मंत्री ने जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि उनकी हर सम्भव मदद होगी। किसी राजनीतिक दल के बहकावे में न आने की व गांव मे शांति ब्यवस्था कायम रखने की जनता से अपील की।

गौरतलब है कि हरसोस में सोमवार की रात आठ बजे एक आरोपी को पकड़ने आई जौनपुर से काइम ब्रांच के दरोगा बालेन्द्र यादव संग सिपाहियों को मनबढ़ों ने पेंड़ मे ंबांधकर पीटा था। मदद के लिए पहुंचे अन्य पुलिसकर्मियों को भी ग्रामीणों द्वारा मारापीट कर घायल कर पिस्टल संग मोबाइल छीन लिया गया था। इस मामले में उसी रात आरोपियों को चिन्हित कर उनके गिरफ्तारी हेतु पुलिश प्रशासन ने गांव वालों पर कहर बरसाया था। आरोप है कि पुलिस ने न सिर्फ निर्दोषों की पिटाई की बल्कि महिलाओं संग अभद्रता भी की। प्रकरण को लेकर राजनैतिक सरगर्मी बढ़ती देख कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर पीड़ितों का हाल जानने जंसा के हरसोस गांव पहुंचे थे।

महिलाओं ने सुनायी पीड़ा

गांव वालों को जब अपनी बिरादरी से कैबिनेट मंत्री बने अनिल राजभर के आने की सूचना मिली थी की पूरा गांव उमड़ पड़ा। गांव के बूढ़े बच्चो संग पीड़ित महिलाये भी घटना स्थल पर पहुँचकर मंत्री से अपना दुखड़ा रोया। कुछ महिलाओं के आंख से आंसू रुकने का नाम ही नही ले रहा था। महिलाओ का आरोप था कि गुनहगार को सजा मिलनी चाहिए थी लेकिन हम बेगुनाहों को भी पुलिस के उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा। अनिल राजभर के आश्वासन पर लोगों को भरोसा हुआ कि अब पुलिस की कार्रवाई कानून के दायरे में रहेगी।

Related posts