आजमगढ़। पूर्वांचल में मुठभेड़ का सिलसिला आरम्भ करने वाले एसपी अजय साहनी के नेतृत्व में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है जब लूट की वारदात को अंजाम देने वाले गैंग का एक अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस और बदमाशों के बीच आमने-सामने हुई मुठभेड़ में एक बदमाश गोली लगने से घायल हो गया । संयोग था कि मुठभेड़ के दौरान बदमाश की गोली तरवां थानाध्यक्ष के बुलेट प्रूफ जैकेट में लगी। घायल बदमाश दीपक मिश्रा अंबेडकर नगर जनपद का निवासी है और पूर्वांचल के विभिन्न जिलों में कई लूट की वारदातों में भी शामिल रहा है। एसपी ने बताया कि कुछ दिन पहले अतरौलिया में दिन दहाड़े शराब कारोबारी के मुनीब से 15 लाख उड़ाने वाला दीपक था। डीजीपी ने पुलिस टीम को 50 जबार जबकि शराब व्यवसायी ने एक लाख पुरस्कार देने की घोषणा की है।

कई जिलों में व्याप्त था आतंक

घायल बदमाश दीपक मिश्रा को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी हालत नाजुक देख वाराणसी रेफर कर दिया गया। दीपक मिश्रा मूल रूप से अंबेडकर नगर जनपद का निवासी है। वह अम्बेडकर नगर, फैजाबाद ेत कई जिलों में भी गैंग बनाकर लूट कि वारदात को अंजाम देता था। अभी कुछ दिन पूर्व आजमगढ़ के अतरौलिया कस्बा के यूनियन बैंक की शाखा में शराब व्यवसाई के मुनीम से 15 लाख की हुई उचक्का गिरी शामिल रहा है जिसमे सीसीटीवी फुटेज के सहारे पुलिस को इसकी तलाश थी। जनपद की तीन लूट की वारदातों में भी दीपक शामिल रहा है।

साथियों की गिरफ्तारी से मिला था सुराग

इससे पहले पुलिस ने अलरौलिया से लाखों की लूट के मामले में ं रणविजय यादव निवासी अंबेडकर नगर-राजेसुल्तानपुर, गोपाल सिंह और राकेश वर्मा को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ की थी। गिरफ्तार बदमाशों से सुराग मिलने पर दीपक की तलाश में घेराबंदी की गयी। बदमाशों के पास से 8.93 लाख रुपया, पिस्टल-तमंचा व कारतूस के अलावा लूट के धन से खरीदी स्कूटी मिली है।

admin

No Comments

Leave a Comment