‘पीसीएस’ से सीधे ‘सांसद’ बने भी उठा रहे राम मंदिर पर सवाल, मोदी सरकार की चीन नीति पर भी बसपा सांसद ने ‘घेरा’

जौनपुर। अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। जिले के बसपा सांसद श्याम सिंह यादव ने यहां होने वाले भूमि पूजन को लेकर सवाल उठाए है। सांसद ने पीएम मोदी को सलाह दी है। कहा कि मंदिर के नाम पर सरकारी धन का खर्च नहीं होना चाहिए। पीएम अपने व्यक्तिगत क्षमता के आधार पर आए तो बेहतर होगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि चीन अगर हमारी जमीन पर नहीं है तो फिर वार्ता किस बात पर हो रही है। उन्होंने कहा कि थोड़ा धैर्य रख कर खुद को मजबूत करते हुए फिर आक्रमकता दिखाते तो बेहतर होता है। कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि अब डिक्शनरी में जंगल राज से भी ज्यादा विभत्स शब्द खोजना होगा। कहना न होगा कि सांसद रिटायर्ड प्रमोटी पीसीएस हैं।

सपाई भी कानून-वयवस्था को लेकर मुखर

इसके साथ ही प्रदेश में अपहरण के बाद हत्या का मामला थमने का नाम ले रहा है। कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार सरकार को घेरने का काम कर रही है। अभी कानपुर के बर्रा के रहने वाले संजीत यादव का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि कल फिर एक अपहरण के बाद हत्या का मामला सामने आया है। कानपुर जिले में रहने वाले बृजेश पाल का अपहरणकतार्ओं ने अपहरण करने के बाद उसकी निर्मम हत्या कर दी जिसे लेकर आज पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष पिंटू पाल के नेतृत्व में पार्टी के कार्यकतार्ओं ने शास्त्री घाट पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने सरकार विरोधी नारे भी लगाए। पिंटू पाल ने कहा कि जिस तरह से प्रदेश में पाल समाज के साथ घटनाएं हो रही हैं,यह बड़ी ही निंदनीय है।अब प्रदेश में हर कोई अपने आप को असुरक्षित समझ रहा है। और योगी सरकार अपराध को रोकने में नाकाम साबित हो रही है।

Related posts