आजमगढ़। मुबारकपुर थाना क्षेत्र में 27 अगस्त को रियाज की हत्या कराने वाला कोई और नहीं बल्कि भाई फैयाज था। पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपित समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ रवि शंकर छवि ने बताया कि रियाज की हत्या उसके भाई फैयाज ने दुकान खाली करवाने को लेकर की थी और पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल किया है। योजना के तहत पहले रियााज को जमकर शराब पिलाई बाद में उसका गला घोट कर उसे मौत की नींद सुला दिये। मृतक की शिनाख्त न हो सके इसलिए दोनों आरोपियों ने रियाज के सर पर बुरी तरह प्रहार कर उसका चेहरा बिगाड़ने की कोशिश की थी।

दूसरे को दिलाना चाहता था भाई की दुकान

गिरफ्तार आरोपितों को मीडिया के सामने पेश करते हुए एसपी ने बताया कि रियाज की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके सगे भाई ने की थी। एसपी के मुताबिक मृतक रेयाज और उसके भाई फैयाज के बीच सब्जी की दुकान को लेकर विवाद था। फैयाज चाहता था रियाज दुकान खाली कर दे और यह दुकान वह नीरज और पंकज को दे दे लेकिन रियाज ऐसा करने को तैयार नहीं था। दुकान खाली न करने की आक्रोश में तीनों ने रक्षाबंधन के एक दिन पूर्व रियाज की हत्या की योजना तैयार कर ली थी। फैयाज ने नीरज और पंकज को दुकान देने का लालच देते हुए 4000 दारू पीने और पिलाने के लिए दिया था। इसके बाद पंकज और नीरज रियाज को फोन करके बुलाया और उन्हें ले जाकर पहले जमकर शराब पिलाई बाद में उसका गला घोट कर उसे मौत की नींद सुला दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment