भदोही। कानून-व्यवस्था को खुली चुनौती देते हुए शुक्रवार की आधी रात के बाद दुर्गागज थाने क्षेत्र में घर में सोई एक किशोरी का बोलेरो सवार बदमाश उठा ले गये। पुलिस ने पिता की तहरीर पर रात में ही अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन बदमाशों की गिरफ्तारी ने होने पर गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने शनिवार की सुबह 7 बजे ज्ञानपुर-दुर्गागंज मार्ग जाम कर दिया। परिजनों का आरोप है कि घटना के बाद हम लोग दर्जनों की तादात में दुगार्गंज थाने पहुंचे लेकिन वहां दो घंटे बाद एफआईआर लिखी गई। चक्का जाम खत्म कराने के लिए तीन थानों की फोर्स बुलानी पड़ी। दूसरी तरफ पुलिस का कहना हैं कि रात में बोलेरो सवार लोगों ने घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस ने परिजनों के आरोप को खारिज किया है। किसी तरह जाम खत्म कराया जा सका।

डायल 100 को लेकर रही नाराजगी

आनंदडीह (दुर्गागंंज) निवासी करीमुल्ला उर्फ कल्लू का मिल्कीपुर मार्ग पर 50 मीटर दूर पुराना मकान है जहां उनकी दो बेटियां पिंकी और दूसरी बेटी रात में सोई हुई थी। रात में एक मासूम बच्ची भूख की वजह से रोने लगी जिस पर पिंकी दूसरे घर दूध लेने चली गई। परिजनों का आरोप है कि इसी दौरान एक बोलेरो आयीं जिसमें सवार बदमाश 18 वर्षीया दूसरी बेटी साइना (परिवर्तित नाम) को जबरिया बोलेरो में डाल दिया। इस दौरान साइना बचाओ – बचाओ की गुहार लगती रही। दूध लेकर लौटती पिंकी की निगाह बदमाशों पर पड़ गई जो साइना को बोलेरो में लाद लिए थे। पिंकी परिजनों को आवाज लगाने हुए बोलेरो के पास दौड़ी और उसका पीछा भी किया, लेकिन बदमाश भाग निकले। आरोप है कि उसी समय डायल – 100 की गाड़ी आ रही थी, लेकिन उसने कोई हरकत नहीँ दिखाई। साइना की मां रोते हुए डायल-100 की पुलिस पर आरोप लगा रही थी कि पुलिस वाले सब जानते हैं की मेरी बेटी को कौन ले गया।

admin

No Comments

Leave a Comment