वाराणसी। कैंट स्टेशन के पास निर्माणाधीन फ्लाईओवर हादसे के दूसरे दिन यानि बुधवार को एक शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आई। बीएचयू के पोस्टमार्टम हाउस के बाहर शव के बदले मृतक के परिजनों से तीन सौ रुपए की मांग की गई। इस घटना के प्रकाश में आने के बाद   जिले के आला अफसरों में हड़कंप मच गया। जांच के बाद आरोपी सफाईकर्मी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया। साथ ही उसके खिलाफ लंका थाने में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

शव के बदले मांगे तीन सौ रुपए

बताया जा रहा है कि जौनपुर के रहने वाले एक शख्स से पोस्टमार्टम हाउस के बाहर मौजूद एक सफाईकर्मी ने शव देने के बदले तीन सौ रुपए की मांग की। इसी बीच रुपयों के लेनदेन के दौरान वहां मौजूद एक शख्स ने पूरी घटना को अपने मोबाइल में कैद कर लिया। वीडियो वायरल होते ही लखनऊ से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मच गया। आनन फानन में डीएम और कमिश्नर ने मामले की जांच शुरु कर दी। आरंभिक जांच में वीडियो की सत्यता पाए जाने के बाद डीएम ने सफाई कर्मचारी बनारसी लाल के खिलाफ लंका थाना में केस दर्ज करने का आदेश दिया। इसी सफाई कर्मी पर परिजनों को लाश सौंपने के बदले पैसे मांगने के आरोप लगे हैं।

दो शव एनडीआरएफ जवानों के
चौकाघाट लहरतारा फ्लाईओवर के लहरतारा के पास मंगलवार को हुए दुर्घटना में मृत 15 में से 13 लोगों के शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया है। दो शव एनडीआरएफ के जवानों का है। उनके यूनिट के लोग इन शवों को प्राप्त करेंगे। कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र, वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ बुधवार (16 मई) सुबह से ही मर्चरी के पास मौजूद रहे। सभी 13 शवों को जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए वाहनों से परिजनों के साथ रवाना किया गया।

admin

No Comments

Leave a Comment