जौनपुर। रक्तदान के लिए जागरुकता के नाम पर पहले तो लोगों को एकत्रित किया। फिर स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति का कार्यक्रम कराते हुए रक्तदान के लिए प्रेरित किया। इसके बाद दान में लिये ब्लड को चोरी से उंचे दाम में बेच दिया। ब्लड डोनेशन के नाम की धोखाधड़ी का ऐसा ही सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। बऊरिया गांव (रामपुर) निवासी राजन तिवारी ने थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया कि रजनीश शुक्ला पुत्र कमलेश शुक्ला निवासी जमैथा थाना जफराबाद ने उससे कहा कि रक्तदान करना अत्यंत पुनीत का कार्य है और उसको बहला फुसलाकर उसके कई मित्र आयुष पुत्र धनंजय सिंह, अमन सेठ, अभिषेक पाण्डेय व अन्य लोगों से जिला अस्पताल में 15 अगस्त को एक-एक यूनिट रक्तदान करवाया। हम लोगों ने यह सोचकर रक्तदान किया था कि इमरजेंसी में किसी घायल व्यक्ति के यह काम आयेगा लेकिन रजनीश शुक्ला छल करके उक्त ब्लड को अवैध रुप से बेच दिया जिसका मोबाइल फोन रिकार्डिंग, वीडियोग्राफी द्वारा साक्ष्य एवं सबूत है। मामला अत्यंत गंभीर है।

एजराज करने पर दी थी धमकिया

थाने में दी गयी तहरीर में राजन ने आरोप लगाया है कि रजनीश शुक्ला अपराधी किस्म का व्यक्ति है और चोरी, छिनैती, अपहरण में कई बार जेल जा चुका है। खून बेचे जो की रजनीश शुक्ला से शिकायत किया तो वह नाराज होकर गालियां देने लगा और अपने 15 से 20 सहयोगियों के साथ उसके घर पर चढ़ गया और जान से मारने की धमकी दिया। पीड़ित ने तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर रजनीश शुक्ला व 15-20 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 419, 420, 147, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है।

admin

No Comments

Leave a Comment