कार्यक्रम में होना था कंबल वितरण लेकिन विधायक सुशील करते रहे सीएए-एनआरसी का वर्णन

वाराणसी। भाजपा इन दिनों समूचे देश में नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) को लेकर जन जागरण कर रही है। सम्भवत: यही कारण है कि कार्यक्रम कोई हो लेकिन पार्टी से जुड़े नेता इसी मुद्दे के आसपास सीमित रहते हैं। ऐसा ही कुछ शुक्रवार को सेवापुरी ब्लाक के नेवादा गांव में पूर्व भाजपा एमएलसी स्व.उदयनाथ उर्फ चुलबुल सिंह की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में देखने को मिला। कंबल वितरण समारोह के दौरान सैयदराजा के विधायक सुशील सिंह ने कहा कि देश के पीएम मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने सीएए एवं एनआरसी संशोधन बिल लागू करके पाकिस्तान, अफगानिस्तान,बांग्लादेश से आये हुए शरणार्थियों को नागरिकता देकर देश में एक मिसाल कायम किया है। इसे हिंदुस्तान के लोग कभी भी भुला नहीं सकते है। उन्होंने परोक्ष रूप से कांग्रेस की तरफ इशारा करते हुए कहा कि कुछ पार्टियां मुसलमानों को गुमराह करके देश में हिंसा फैलवा कर वोट बटोरने की राजनीति कर रही है। लेकिन कांग्रेस का यह दांव फिर उसके लिए खतरनाक साबित होगी।
पिता की कर्मभूमि में मिलती है प्रसन्नता

विधायक ने कहा कि हिंदुस्तान के जो देशभक्त मुसलमान हैं वह सीएए और एनआरसी कानून के पक्ष में खड़े होकर मुट्ठी भर दंगाइयों को खुद जवाब दे रहे हैं। देशभक्त मुसलमान किसी भी पार्टी के बहकावे में अब आने वाले नहीं हैं। समारोह में पूर्व एमएलसी स्व.चुलबुल सिंह के पुत्र एवं भाजपा के सैयदराजा विधायक सुशील सिंह ने 501 गरीबों को कंबल व शाल वितरित किया। इस दौरान विधायक ने कहा कि अपने पिताजी की कर्मस्थली से गरीबों को कंबल व शाल वितरित करके मुझे काफी प्रसन्नता की अनुभूति हो रही है। कार्यक्रम में गगन सिंह,धर्मेंद्र सिंह,दया शंकर दुबे,राकेश सिंह जानी,सुरेंद्र सिंह के साथ भारी संख्या में पुरुष एवं महिला उपस्थित रहे।

Related posts