बलिया। विधानसभा चुनाव में मिले प्रचंड बहुमत के कुछ माह बाद ही उपचुनावों में मिल रही एक के बाद एक हार से भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने बगावती तेवर अख्तियार कर लिये हैं। सांसद से लेकर विधायक तक ने जनहित से जुड़े मुद्दों को लेकर दबाव की रणनीति अख्तियार कर लिया है। भाजपा के ओबीसी सांसद रविंद्र कुशवाहा ने अपने संसदीय क्षेत्र में ट्रेन के ठहराव के मुद्दे को लेकर लोकसभा के मानसून सत्र में संसद भवन में धरना देने की घोषणा की है। सलेमपुर से सांसद कुशवाहा के अतिरिक्त बैरिया के चर्चित भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने भी बगावती तेवर अख्तियार किया है। विधायक सिंह ने बैरिया तहसील में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरोध में 5 जून को बैरिया तहसील पर प्रदर्शन करने की घोषणा की है। पिछले दिनों तहसील में उनके भाई पर कानूनगो की पिटाई का आरोप लगा था जिसके बाद मुकदमा कायम हुआ था।

चुनाव में बचा एक साल, शहीदी मुद्रा अपना रहे सांसद

सांसद रविंद्र कुशवाहा ने अपने संसदीय क्षेत्र के बिल्थरा रोड व सलेमपुर में ट्रेन के ठहराव की मांग को लेकर संसद के जुलाई माह में शुरू हो रहे मानसून सत्र के दौरान संसद भवन स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि वह रेल मंत्री पीयूष गोयल के खिलाफ धरना देंगे। सांसद कुशवाहा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जनता का दबाव है कि उनके संसदीय क्षेत्र के बिल्थरा रोड व सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर अनेक ट्रेनों का ठहराव हो। उन्होंने बताया कि वह इस सिलसिले में 8 बार केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिख चुके हैं। संसद के पिछले सत्र की समाप्ति पर गोयल द्वारा बुलाई गई बैठक में भी उन्होंने इस मसले को उठाया था, फिर भी कोई नतीजा नहीं निकला। उन्होंने कहा कि ठहराव घोषित न होने से आम जनता में सरकार की तो किरकिरी हो ही रही है। इसके साथ ही उनके प्रति भी नाराजगी है। इसी को देखते हुए उन्होंने संसद के शुरू होने जा रहे मानसून सत्र के शुरूआत में संसद भवन स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना देने की घोषणा की है।

admin

No Comments

Leave a Comment