बलिया। लखनापार चट्टी (सिकंदरपुर) में बुधवार को जमीन कब्जा कराने गई राजस्व व पुलिस टीम पर कथित हमले को लेकर भाजपा के पूर्व विधायक भगवान पाठक ने एसडीएम राजेश यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य व पूर्व विधायक भगवान पाठक सैकड़ों समर्थकों के साथ गुरुवार की सुबह थाना पर पहुंचकर धरना शुरू कर दिये। पुलिस प्रशासन के खिलाफ मौजूद लोगों द्वारा नारेबाजी शुरू कर दी गई। पूर्व विधायक ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक बेकसूर लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा और एसडीएम सिकंदरपुर के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गयी, तब तक थाने से नहीं हटूंगा। इससे थाने पर अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। थाने पर भारी मात्रा में पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई। सीओ सिकंदरपुर विजय प्रताप यादव से भी धरना दे रहे लोगों की तीखी बहस हो गयी।

बुजुर्ग महिलाओं की पिटाई का आरोप

पुलिस ने इस मामले में एक पक्ष के चार महिलाओ सहित एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया था। आरोप है कि पुलिस-प्रशासन ने 80 और 90 साल की महिलाओं को बुरी तरह मारा-पीटा गया तथा उन को घसीटते हुए थाने लाया गया। पूर्व विधायक का कहना है उन्हें जिस तरह से प्रताड़ित किया है यह मानवता को शर्मसार करती है। पुलिस की शर्मनाक हरकत कानून व्यवस्था को तार-तार कर रही है। पुलिस ने बुजुर्ग महिलाओं समेत उनके परिजन के खिलाफ देर रात को पुलिस व राजस्व टीम पर जानलेवा हमला करने के आरोप में 147, 148, 149, 332, 336, 353, 307, 309, 337, 341, 504 व 506 आईपीसी व 7 सीएलए एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। धरने में जिला पंचायत सदस्य रवि यादव, प्रधान लखनापार संतोष गिरी, खड़क यादव, सुरेंद्र पांडे, सतेन्द्र यादव, राजेश तिवारी, उपेंद्र पांडे, हरिभगवान चौबे, सतेन्द्र तिवारी, इंद्रदेव चौधरी, वीर बहादुर राजभर, राघवेंद्र सिंह, भरत राय, हरिंदर सिंह व नमो सिंह इत्यादि मौजूद रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment