मऊ।  घोसी सांसद हरिनारायण राजभर की बदजुबानी और फर्जी तरीके से पत्रकारों पर दर्ज मुकदमे को लेकर सियासत तेज हो गई है। पीड़ित पत्रकारों के बाद अब बीएसपी नेता अब्बास अंसारी ने स्थानीय सांसद के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अब्बास ने इसे अघोषित इमरजेंसी करार देते हुए, लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला बताया। उन्होंने कहा कि स्थानीय सांसद सत्ता के मद में चूर हैं। वह फर्जी तरीके से पत्रकारों को फंसाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में जिसने भी बीजेपी के खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत की, उसे कुचल दिया जा रहा है।

धरने पर बैठे पत्रकार

वहीं दूसरी ओर सांसद और उनके सहयोगियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर पत्रकार गुस्से में हैं। पत्रकारों का एक गुट कोतवाली पहुंचा और धरने पर बैठ गया। पत्रकारों मांग थी कि सांसद और उनके सहयोगियों के खिलाफ जबतक मुकदमा दर्ज नहीं होगा वह शांतिपूर्ण ढंग से बैठे रहेंगे।  देर शाम तक पत्रकारों का धरना जारी था। इस बाबत कोतवाली प्रभारी सुरेश चंद्र मिश्र ने पत्रकारों को आश्वासन दिया है। उनके मुताबिक सीओ मुहम्मदाबाद गोहना अनिल कुमार को जांच सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही किसी तरह की कार्रवाई की गई है।

admin

No Comments

Leave a Comment