बलिया। संसद को लगातार बाधित करने के विरोध में भाजपा के देश व्यापी अभियान के तहत एक दिवसीय अनशन में बैरिया के विधायक सुरेन्द्र सिंंह ने विपक्ष को कोसने के क्रम में सारी मर्यादा पार कर दी। उन्होंने बसपा सपा और कांग्रेस के संभावित महागठबंधन को लेकर जमकर खरी-खोटी सुनाई। उनका कहना था एक राजनीति की जमीदारी पार्टी है। एक राजनीति की अत्याचारी पार्टी है तो दूसरी राजनीति की व्यापारी पार्टी है। सपा के बारे में कह डाला मुगल काल में राजा अपने पिता को मारकर गद्दी पर बैठता है लेकिन इस पार्टी में अखिलेश ने अपने पिता को लात मारकर गद्दी हासिल कर ली है। जो आदमी अपने बाप का नहीं हुआ वह उत्तर प्रदेश के 22 करोड़ जनता का क्या होगा। उन्होंने विपक्ष को दागदार चुनरी बताते हुए मोदी को साधु की लंगोट बताया जिसे जनता जंतर बनाकर पहनती है।

कसाई को भाई मानती हैं मायावती

इसके बाद विधायक के निशाने पर बसपा थी। उन्होंने कहा कि जो मायावती आज सपा से गठबंधन कर रही है वहीं सपा ने एक दिन डाकबंगला कांड में अपमानित किया था और बीजेपी विधायकों ने उनको बहन मांन कर बचाया था। लेकिन वह आज कसाई को भाई मानती है। भविष्य में उनकी राजनीति की अस्मिता बचने वाली नहीं है एक दिन अखिलेश बुआ कह रहा है वही अखिलेश जनता का जुआ कह कर भगा देगा। मायावती के घर में घुसने पर 5 लाख, पैर छूने पर 5 लाख, कुर्सी पर बैठने पर 5 लाख और जाते समय 5 लाख कुल मिलाकर 20 लाख रुपए देना पड़ता है और टिकट का अलग से। बसपा का नारा है ‘माल काटो माल बांटो तब बसपा का पत्ता साटो’।

राहुल को संसद के बदले पसंद है इटली

अंत में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए विधायक ने कहा इटली की रहने वाली मामूली एक औरत आज भारत की रानी बनी बनी बैठी है और इसका लड़का राहुल गांधी संसद में बैठने की बजाए इटली जाना बेहद पसंद करता है। उन्होंने 2019 का चुनाव को लेकर नारा दिया कि चुनाव इटली बनाम भारत, इस्लामाबाद बनाम भारत का चुनाव होगा। एक तरफ जहां मोदी भगवान को मानते हैं तो माया-मुलायम इस्लाम को और सोनिया-राहुल यरुशलम को इसलिए मोदी आएंगे तो भगवान का डंका बजेगा और विपक्षी आएंगे तो इस्लाम का डंका बजेगा।

admin

No Comments

Leave a Comment