बलिया। अपने बयानों और कार्यप्रणाली के चलते विवादों में रहने वाले बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह की दबंगई एक बार फिर देखने को मिली। बिजली विभाग द्वारा बड़े बकायेदारो की विजली काट कर लौट रहे विभाग के अधिशाषी अभियंता और अवर अभियंता को अपनी गाड़ी में बैठाकर ले जाकर जबरन काटी गई बिजली का कनेक्शन चालू करवाया। घटनाक्रम से नाराज बिजली विभाग के समस्त कर्मचारी बीजेपी विधायक के खिलाफ कार्यवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठे। विधायक के ऊपर मुकदमा दर्ज कराने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी आला अफसरों को इस बाबत ज्ञापन दे चुके हैं। कहना न होगा कि कुछ दिनों पहले विधायक के भाई ने तहसील में राजस्व निरीक्षक की भी पिटाई की थी।

कुछ यूं रहा था घटनाक्रम

प्रदर्शनकारियों के मुताबिक पिछले दिनों बिजली विभाग की टीम अधिशाषी अभियंता के नेतृत्व में एक कोल्ड स्टोरेज की बिजली काटने गए थे जिसके ऊपर 57 लाख का बकाया था। उसी कोल्ड स्टोरेज की बिजली काटने के बाद टीम लौट आयी थी। इस बीच बीजेपी पहुंचे और अभियंताओं को अपनी गाडी में बैठा कर ले गये। बाद में विधायक ने जबरन काटी गई बिजली को जोड़वाया ।

सफाई में दी किसानों की दुहाई

इस बाबत पूछे जाने पर विधायक का कहना था कि कुछ दिन पहले बिजली विभाग के अधिकारी उनके पास आये थे और कोल्ड स्टोरेज के बड़े बकाये की जानकारी दी। इस पर उन्होंने मालिक से सम्पर्क कर बकाया चुकाने को कहा। फौरन सात लाख जमा करा कर एक पखवारे की मोहलत की गयी थी। इस बीच अचानक बिजली काट दी गयी। किसानों का आलू सड़ जायेगा। दूसरे बड़े बकायेदारों के खिलाफ कार्रवाई करते हीं और सरकार को बदनाम करने की खातिर किसानों का आलू सड़ाने पहुंच गये।

admin

No Comments

Leave a Comment