भदोही। कोतवाली के अजीमुल्लाह चौराहे सरीखे व्यस्ततम स्थान पर शुक्रवार की दोपहर कालीन निर्यातक हाजी महमूद आलम के पुत्र जफर महमूद की कार का शीशा तोड़ कर उचक्कों ने 16 लाख रुपये से भरा निकाल लिया। स्टेशन रोड स्थित पंजाब नेशनल बैंक से पैसा निकालने के बाद जफर महमूद रुपयों से भरा बैग कार में छोड़कर मस्जिद में जुमे की नमाद अदा करने गये थे। खास यह कि कस्बा चौकी इंचार्ज वहीं पर मौजूद थे और तेजी से बाइक लेकर जा रहे उचक्कों को रोकने के लिए उन्होंने आवाज भी लगायी लेकिन उनकी आंखों के सामने से बदमाश तेजी से निकल गये। दिनदहाड़े हुई बड़ी वारदात की जानकरी मिलने पर एसपी सचिन्द्र पटेल, क्राइम ब्रांच की टीम सहित शहर कोतवाल भी मौके पर पहुंच गये। एसपी का कहना है कि जल्द ही बदमाशों को दबोच लिया जायेगा।

चंद मिनटों में दिया वारदात को अंजाम

खमरिया (औराई) निवासी कालीन निर्यातक हाजी महमूद आलम के पुत्र जफर महमूद बैंक से निकते तब तक नमाज का समय हो गया था। अपनी कार को मस्जिद के समीप खड़ी कर जफर जुमे की नमाज अदा करने गये थे जिसमें 16 लाख रूपया रखा हुआ था। इसी बीच मौका पाकर बाइक सवार उचक्को ने कार का शीशा तोड़कर 16 लाख रूपया लेकर फरार हो गए। आशंका जतायी जा रही है कि उचक्के बैंक से पीछे लगे होंगे जिसे ध्यान में रखते हुए बैंक के सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला गया।

पहले भी हुई हैं ऐसी वारदात

गौरतलब है कि इसी तरह की दो घटनाएं पहले भी भदोही कोतवाली के अजीमुल्लाह चौराहे व मर्यादपट्टी में घट चुकी है। मर्यादपट्टी के हुल्लासपुर में 30 अक्टूबर 2017 को जमुनीपुर निवासी कालीन निर्यातक अमीन अहमद अपनी हुंडई क्रेटा से यूनियन बैंक से 70 हजार रूपया निकालकर मर्यादपट्टी स्थित हुल्लासपुर किसी कार्य से गये थे। मौका पाकर उचक्को ने कार का शीशा तोड़कर 70 हजार रूपया उड़ा दिया था। इसी तरह इस घटना के लगभग एक सप्ताह बाद 8 नवम्बर 2017 को अजिमुल्लाह चौराहे पर ही उचक्को ने कालीन निर्यातक प्रमोद बरनवाल की कार का शीशा तोड़कर 10 लाख रूपया उड़ा दिया था।

admin

No Comments

Leave a Comment