चंदौली। पीएम मोदी देश की गरीब जनता को मुफ्त में एसपीजी सिलेंडर मुहैया कराने के लिए उज्जवला योजना चला रहे हैं लेकिन भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्रनाथ पाण्डेय के संसदीय क्षेत्र में इसके नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा हो रहा है। गैस सिलेंडर की फर्जी तरीके से आपूर्ति करने वाला गिरोह पश्चिम बंगाल से लेकर प्रदेश की सीमा तक सक्रिय था। चंदौली पुलिस ने सोमवार को गिरोह के सरगना को जिस समय दबोचा वह बिहार पुलिस के दारोगा की वर्दी पकने हुए चोरी की गाड़ी से जा रहा था। पुलिस उपाधीक्षक सदर प्रदीप सिंह चंदेल के मुताबिक लोगों को दरोगा की धौंस जमा कर लोगों से गैस सिलेंडर की आपूर्ति के नाम पर मोटी रकम वसूलने वाला इसके बाद फरार हो जाया करता था ।

दर्जनों को लगा चुका है चूना

पुलिस के मुताबिक बीते 25 तारीख को सोनू कुमार ने चंदौली कोतवाली पर 3 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा कायम कराया था। आरोप था कि एक व्यक्ति पुलिस की वर्दी में अपने आप को बटालियन का बताते हुए उसके परिवार से मिला और कहा कि कम दाम पर सिलेंडर उन लोगों को उपलब्ध कराया जाएगा। इसके एवज में उससे 5 हजार रूपया लिया और अपने साथियों के साथ टाटा जेस्ट गाड़ी में बैठ कर फरार हो गया। इंसपेक्टर चंदौली ने त्वरित कार्यवाही करते हुए मुखबिर की सूचना पर एक फर्जी दरोगा व उसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार किया गया। फर्जी दरोगा के पास से बिहार पुलिस की वर्दी व फर्जी नंबर प्लेट शुदा गाड़ी बरामद हुई। गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि आम जनता को झांसा देकर पुलिस की आड़ में कम दाम पर सिलेंडर बेचने का धंधा पश्चिम बंगाल बिहार उत्तर प्रदेश में करते थे तथा अब तक करीब 60-70 घटनाएं कारित कर चुके थे।

admin

No Comments

Leave a Comment