भदोही। गोली मारकर बेलाल मसूरी (16) की हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि उसका बड़ा भाई मोहम्मद अली थी। मथुरापुर बाईपास मार्ग पर शव फेंके जाने में पिता समेत परिवार के दूसरे सदस्य शामिल थे। पुलिस ने गुरुवार को इस बहुचर्चित हत्याकांड खुलासा करते हुए मृतक किशोर के पिता, दो भाईयों सहित कुल सात अभियुक्तों को मीडिया के सामने पेश किया। एएसपी डा. संजय कुमार ने हत्या में प्रयुक्त अवैध असलहा, कारतूस व वाहन को बरामद किया है। वारदात का कारण पारिवारिक विवाद था लेकिन इसके बाद योजनाबद्ध तरीके से इसे दूसरा रूप देने की साजिश रची गयी।

बिगडैल स्वभाव का था बेलाल

एएसपी के मुताबिक पूछताछ में गिरफ्तार आरोपितों ने बताया कि मृतक बेलाल मंसूरी बिगड़ैल स्वभाव का था तथा परिवार के किसी सदस्य की कोई बात नही सुनता था। पारिवारिक विवाद में 4 मार्च को गुस्से में आकर बड़े भाई मो. अली ने घर में रखी अवैध पिस्टल से गोली मार दी। मौके पर ही बेलाल की मौत हो गई। उसके बाद घर वालों ने उसकी लाश को एक बेडशीट में लपेट कर छत पर छिपा दिया। मुहल्ले में उसे खोजने का झूठा नाटक भी करने लगे। वरदात को दूसरा रूप देने के लिए रात में अपने सहयोगियों के साथ चार पहिया वाहन एर्टिगा में उसकी लाश को रखकर मथुरापुर बाईपास मार्ग सड़क किनारे फेंक कर चले आये। वापस आने के बाद जिस कालीन पर उसकी हत्या की गई थी उसको पानी से धो दिया और जिस चादर को लाश लपेटने के लिए प्रयोग किया गया था उसको मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया था।

दोस्त को फंसाने की थी साजिश

घटना में इस्तेमाल की गई पिस्टल मो. अली ने अपने घर में छिपा दी। पुलिस को गुमराह करने के लिए एक 315 बोर का देशी कट्टा अपने दोस्त छोटू कुरैशी के घर रखने के लिए दे दिया जो उसके पास से बरामद हुआ। इस पर छोटू कुरैशी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया। मृतक के पिता हबीबुल्लाह का पूर्व भी काफी लम्बा आपराधिक इतिहास रहा है। चोरी, डकैती जैसे दर्जनो जघन्य अपराधों में वह जेल जा चुका है। इस मामले में हबीबुल्लाह सहित उनके दो पुत्र सुल्तान मंसूरी व मो. अली मंसूरी के अलावा छोटू कुरैशी, आफताब अली, मो. सैफ, अफजल अहमद सहित सात लोगो को पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने गिरफ्तारी किया है। टीम में इंस्पेक्टर नवीन कुमार तिवारी, एसआई अजय सिंह, कांस्टेबल मेराज अली, सचिन कुमार झा, अनिरूध्द सिंह, इंदु प्रकाश गौतम, अजय सिंह यादव, सर्वेश राय, राधेश्याम कुशवाहा, नरेन्द्र कुमार सिंह, स्वाट सर्विलांस क्राइम ब्रांच व प्रभारी निरीक्षक कोतवाली भदोही मनोज कुमार पाण्डेय, कांस्टेबल तुफैल अहमद आदि शामिल रहें।

admin

No Comments

Leave a Comment