जौनपुर। बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष, कांग्रेसी नेता व पत्रकार चंचल सिंह को 40 साल पुराने मामले में कोर्ट ने जेल भेज दिया है। कोर्ट के आदेशपर उन्हें जौनपुर जिले की महाराजगंज पुलिस ने गिरफ्तार किया और कोर्ट में पेश किया गया। उन पर 1978 से सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा चल रहाथा और इसी मामले में उनके खिलाफ साल 1986 से अबतक कई बार वारंट जारी हो चुका था। बुधवार सुबह कोर्ट के आदेश पर महराजगंज पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर में लेकर एडीजे फिफ्थ की कोर्ट में पेश किया। उनकी पेशी होने पर अदालत ने उन्हें जेल भेजने का आदेश दे दिया। इस मामले की अगली सुनवाई गुरुवार 9नवम्बर को होगी।

सरकारी काम में बाधा डालने का है आरोप

 छात्र नेता रहे चंचल पर 1978 में तत्कालीन डीएम टीडी गौड़ से झड़प करने और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप है, इस मामले में धारा 353 के तहत 1986से ही कई बार उनके खिलाफ वारंट जारी हो चुका है। मामला 1978 का बताया जा रहा। मिली जानकारी के मुताबिक़ चंचल सिंह उस समय बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ के अध्यक्ष थे। जौनपुर के महाराजगंज ब्लाक पर घटना वाले दिन वे चाय पी रहे थे, तभी उनसे मिलने उनके एक परचित भारत यादव पहुंचे थे। भारत को सीमेंट की जरुररत थी, जिसके लिए उन्हें परमिट चाहिए थी।  उस समय परमिट कोई मजिस्ट्रेट के यहां से ही जारी होता था। इसी बीच उस समय के जिले के डीएम टीडी गौड़ महाराजगंज ब्लाक का मुआयना करने पहुंचे। उन्हें देखकर भारत यादव ने चार बोरी सीमेंट का परमिट इशू करने का अनुरोध किया। इसी बीच चंचल और डीएम गौड़ के बीच तल्ख़ लहजे में बात होने लगी। इस पर डीएम गौड़ ने चंचल के खिलाफ सरकारी काम में बाधा पहुंचाने का मुकदमा थाने में दर्ज करवा दिया। हालांकि इस मुकदमे के बारे में चंचल का कहना है कि इस मामले में समझौता हो चुका है और इसके बाद भी इतने वर्षों बाद उनके खिलाफ वारंट जारी किया गया है। चंचल रेलमंत्री जार्ज फर्नांडिस के पर्सनल सेक्रेटरी भी रहे हैं और इस समय कांग्रेस पार्टी का सोशल मीडिया प्रचार देखते हैं साथ ही वे फ्रीलांस पत्रकारिता भी करते हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment